Tuesday , October 17 2017
Home / Khaas Khabar / आधार कार्ड के शख़्सी डाटा का ग़लत इस्तिमाल

आधार कार्ड के शख़्सी डाटा का ग़लत इस्तिमाल

नई दिल्ली 3/ अक्टूबर (पी टी आई) यूनिक आईडनटी फ़कीशन अथॉरीटी आफ़ इंडिया (UIDAI) को एक शिकायत मौसूल हुई है कि इस मुनफ़रिद आधार कार्ड से शख़्सी डैटा हासिल करते हुए इस का ग़लत इस्तिमाल किया जा रहा है। ये अपनी नौईयत का पहला केस है जिस में क़ानून रा

नई दिल्ली 3/ अक्टूबर (पी टी आई) यूनिक आईडनटी फ़कीशन अथॉरीटी आफ़ इंडिया (UIDAI) को एक शिकायत मौसूल हुई है कि इस मुनफ़रिद आधार कार्ड से शख़्सी डैटा हासिल करते हुए इस का ग़लत इस्तिमाल किया जा रहा है। ये अपनी नौईयत का पहला केस है जिस में क़ानून राज़दारी की ख़िलाफ़वरज़ी की गई है। इस अथॉरीटी के मर्कज़ की जानिब से अवामी शिकायात की समाअत के बाद एकसोई की जा रही है। क़ानून हक़ मालूमात के तहत पूछे गए एक सवाल के जवाब में अथॉरीटी ने कहा कि इन का मर्कज़ आधार कार्ड हासिल करने वालों की मुश्किलात और शिकायात पर तवज्जा दे रहा है। ताहम उन्हें इन्फ़िरादी तौर पर डाटा हासिल करने से मुताल्लिक़ कोई शिकायत वसूल नहीं हुई है लेकिन एडरैस्स प्रफ़ू का ग़लत इस्तिमाल करने की शिकायत मिली है। इस साल मौसूल होने वाली शिकायत की मज़ीद तफ़सीलात से अथॉरीटी ने वाक़िफ़ नहीं करवाया। आधार कार्ड में राज़ और मक़ासिद के दरमयान एक तवाज़ुन बरक़रार रखा गया है जब रिहायश पज़ीर अफ़राद से उन का डैटा हासिल किया जाता है तो इस को राज़ में रखा जाता है।

TOPPOPULARRECENT