Monday , October 23 2017
Home / Uttar Pradesh / आधार से जुड़ने पर गैस सारफीन की जेब कटी

आधार से जुड़ने पर गैस सारफीन की जेब कटी

गैस सिलिंडर को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर से जोड़े जाने की वजह से सारफीन की जेब पर 32.5 रुपये का इजाफ़ी बोझ पड़ रहा है। ये पैसे सीधे रियासत हुकूमत की जेब में जा रहे हैं। अभी गाहक को 437.5 रुपये में गैस भरा सिलिंडर मिलता है।

गैस सिलिंडर को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर से जोड़े जाने की वजह से सारफीन की जेब पर 32.5 रुपये का इजाफ़ी बोझ पड़ रहा है। ये पैसे सीधे रियासत हुकूमत की जेब में जा रहे हैं। अभी गाहक को 437.5 रुपये में गैस भरा सिलिंडर मिलता है।

अब जिन्होंने आधार कार्ड से अपना अकाउंट लिंक कर दिया है, उन्हें पहले 1099 रुपये चुकाने होंगे। इसके बाद उनके खाते में 629 रुपये वापस मिलेंगे। उन्हें सिलिंडर के लिए लगेंगे 470 रुपये यानी 32.5 रुपये ज्यादा। इसमें से 30-31 रुपये की रकम वैट की है, जो रियासत हुकूमत के खाते में जमा होगी। रियासत में गैस सिलिंडर पर वैट की रकम पांच फीसद है।

अप्रैल तक पूरे रियासत में आधार से सिलिंडर

अभी रियासत के पांच अज़ला में आधार के जरिये से सब्सिडी की अदायगी शुरू किया गया है। अप्रैल 2014 से पूरे रियासत के गाहक इसमें शामिल कर लिये जायेंगे। रियासत में तकरीबन 13 लाख एलपीजी गैस सारफीन हैं। सब्सिडी वाले सिलिंडरों की तादाद नौ करने से सारफीन पहले से ही परेशान हैं। अब वैट की वजह से उनकी जेब पर और बोझ बढ़ गया है।

TOPPOPULARRECENT