Tuesday , October 24 2017
Home / Uttar Pradesh / आम लोगों की सहूलत के लिए झारखंड पुलिस ने की नई शुरुवात

आम लोगों की सहूलत के लिए झारखंड पुलिस ने की नई शुरुवात

झारखंड पुलिस ने आम लोगों के लिए 20 मई को चार नई सहूलत की शुरुवात की। रियासत के लोग अब ऑनलाइन शिकायतें कर सकेंगे। रियासत के एनएच पर पुलिस की पैट्रोलिंग होगी। शहर में थानों के अलावा अब इजाफ़ी पुलिस गश्ती होगी। सड़क हादसा के बाद अब एंबुल

झारखंड पुलिस ने आम लोगों के लिए 20 मई को चार नई सहूलत की शुरुवात की। रियासत के लोग अब ऑनलाइन शिकायतें कर सकेंगे। रियासत के एनएच पर पुलिस की पैट्रोलिंग होगी। शहर में थानों के अलावा अब इजाफ़ी पुलिस गश्ती होगी। सड़क हादसा के बाद अब एंबुलेंस लोगों को नजदीकी अस्पताल या ट्रामा सेंटर में पहुंचाएगा। एबुंलेंस में पुलिस मेडिकल टीम भी रहेगी। वजीरे आला रघुवर दास ने इन तमाम सहूलत का इफ़्तिताह बुध को पुलिस हेड क्वार्टर में किया। तकरीब में चीफ़ सेक्रेटरी राजीव गौबा, दाखिला सेक्रेटरी एनएन पांडेय, आईटी सेक्रेटरी सुनील बर्णवाल, डीजीपी डीके पांडेय समेत पुलिस के दीगर आला और इंतेजामिया अफसर मौजूद थे।

अब लोग ऑनलाइन शिकायतें भी दर्ज कर सकते हैं। लोग अपने कंप्यूटर, लैपटॉप या प्रज्ञा सेंटर से शिकायत दर्ज कर सकते हैं। शिकायत दर्ज होने की इत्तिला भी लोगों को मोबाइल या उनके कंप्यूटर और प्रज्ञा सेंटर को दे दी जाएगी। इसे आधार कार्ड से लिंक किया गया है। शिकायतों की जांच के बाद सनाह दर्ज की जाएगी। 24 घंटे में शिकायत करने वालों को जानकारी मिल जाएगी कि उनकी एफ़आईआर दर्ज हुई है या नहीं। शुरू में चार जिलों के दस थानों में यह सहूलत कराई गई है। बाद में इसका तौसिह किया जाएगा।

लोग छोटी-छोटी शिकायतों के लिए थाना नहीं जाते थे। अब लोग ऑनलाइन इसकी शिकायत कर सकते हैं। घरेलू तशद्दुद के मामले दर्ज होने का अदाद व शुमार करीब ज़ीरो है। ऑनलाइन एफआइआर की सहूलत मिलने से इस तरह के मामले दर्ज हो सकते हैं। क्योंकि लोगो को थाना जाने की जरूरत नहीं होगी।

जुर्म पर कंट्रोल के लिए शहर में खुसुसि गश्ती होगी। इसके लिए रांची को 11 गाड़ी दस्तयाब कराए गए हैं। शहर के मुखतलिफ़ इलाकों में यह गश्ती दल तैनात होगा। कंट्रोल रूम में या 100 नंबर पर इत्तिला देने के पांच मिनट के अंदर यह गश्ती दल वाकिया मुकाम पर पहुंचेगा और हालत को कंट्रोल में करेगा। जरूरत पड़ने पर एक से ज्यादा गश्ती दल भी यहां जाएगा। गश्तीदल में जदीद असलाह के साथ पुलिस रहेंगे। शहर के 11 चौक और अहम मुकाम पर यह गश्ती दल तैनात रहेगा।

रांची शहर के लिए एक्सीडेंट रिलिफ मेडिकल असिस्सटेंस (आरमर) सर्विस की शुरुआत की गई। हादसा होने की सूरत में यह एंबुलेंस फौरन जख्मियों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल ले जाएगा। इसके लिए टाटा ने सीएसआर के तहत एंबुलेंस मुहैया कराया है। मेडिका अस्पताल भी इसमें पार्टनर है।

रियासत हुकूमत हाइवे पर भी अपनी पैट्रोलिंग करेगी। हाइवे पर लूट पाट और जुर्म कंट्रोल के लिए यहां मुसलसल गश्ती होगी। शुरू में गिरिडीह और रांची-जमशेदपुर के दरमियान यह सर्विस शुरू की गई है। गिरिडीह में पारसनाथ रोड पर यह गश्ती की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT