Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / आरमोर मैं तेलंगाना हामीयों पर लाठी चार्ज की मुज़म्मत

आरमोर मैं तेलंगाना हामीयों पर लाठी चार्ज की मुज़म्मत

हैदराबाद। 12 जनवरी (सियासत न्यूज़) टी आर ऐस रुकन असम्बली के हरीश राव ने आरमोर में वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी के सदर जगन मोहन रेड्डी की भूक हड़ताल के मौक़ा पर तेलंगाना हामी कारकुनों पर पुलिस लाठी चार्ज की मुज़म्मत की और कहा कि रियास्

हैदराबाद। 12 जनवरी (सियासत न्यूज़) टी आर ऐस रुकन असम्बली के हरीश राव ने आरमोर में वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी के सदर जगन मोहन रेड्डी की भूक हड़ताल के मौक़ा पर तेलंगाना हामी कारकुनों पर पुलिस लाठी चार्ज की मुज़म्मत की और कहा कि रियास्ती हुकूमत मुख़ालिफ़ तेलंगाना क़ाइदीन को तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करते हुए तेलंगाना तहरीक को कमज़ोर करने की कोशिश कररही है।

उन्हों ने बताया कि सी पी आई ऐम ईल न्यू डेमोक्रेसी के कारकुन बड़ी तादाद में आज आरमोर में जगन मोहन रेड्डी के भूक हड़ताली कैंप पहूंचे और अलैहदा तेलंगाना मसला पर इन से मौक़िफ़ वाज़ेह करने का मुतालिबा किया, लेकिन पुलिस ने इन कारकुनों की बुरी तरह पिटाई की जिस में कई अफ़राद ज़ख़मी होगए।

उन्हों ने कहा कि पुलिस लाठी चार्ज में तेलंगाना के कई हामी ज़ख़मी होगए और 30 से ज़ाइद कारकुनों को गिरफ़्तार करलिया। हरीश रावने कहा कि वाई ऐस जगन मोहन रेड्डी को चाहीए कि वो तेलंगाना मसला पर अपना मौक़िफ़ वाज़ेह करे। तेलंगाना में दाख़िले से क़बलही उन्हें अपना मौक़िफ़ वाज़ेह करना चाहीए था लेकिन उन्हों ने भूक हड़ताल कैंप पहूंचने वाले अफ़राद को जवाब देने के बजाय पुलिस के ज़रीया उन पर ज़ुलम किया।

हरीश रावने कहा कि भूक हड़ताली कैंप में तेलंगाना हामीयों को दाख़िले की इजाज़त नहीं दी जा रही है, अगर जगन मोहन रेड्डी तेलंगाना के मुख़ालिफ़ हैं तो उन्हें तेलंगाना में एहतिजाज करने का कोई अख़लाक़ी हक़ हासिल नहीं। उन्हों ने कहा कि चंद्रा बाबू नायडू और जगन मोहन रेड्डी को हुकूमत की सरपरस्ती हासिल है और पुलिस की भारी जमईयत की निगरानी में वो तेलंगाना में दौरा करते हुए ये तास्सुर देने की कोशिश कररहे हैं कि तेलंगाना तहरीक कमज़ोर होचुकी है।

उन्हों ने कहा कि तेलंगाना का दौरा करने से तहरीक के कमज़ोर होने का सवाल ही पैदा नहीं होता। दोनों क़ाइदीन को जगह जगह अवामी नाराज़गी का सामना करना पड़ा। हरीश रावने कहा कि अवाम को जमहूरीयत में इस बात का हक़ हासिल है कि वो अपने नुमाइंदों से किसी भी मसला पर वज़ाहत तलब करें।

TOPPOPULARRECENT