Wednesday , October 18 2017
Home / Delhi News / आर्टिकल 341 में बदलाव के लिए हर संभव संघर्ष किया जाएगा: डॉ ताजुद्दीन

आर्टिकल 341 में बदलाव के लिए हर संभव संघर्ष किया जाएगा: डॉ ताजुद्दीन

नई दिल्ली: विश्वास वेलफेयर फाउंडेशन की ओर से इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर में एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम का आयोजन आईएएस अधिकारी फराह हुसैन के सम्मान में आयोजित किया गया, जिसकी अध्यक्षता एस सी आयोग के पूर्व राष्ट्रीय समन्वयक और कांग्रेस पार्टी वरिष्ठ नेता डॉ ताजुद्दीन अंसारी ने की. उन्होंने कहा कि आर्टिकल 341 के बदलाव के लिए हर मुमकिन कोशिश किया जायेगा.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार डॉक्टर ताजुद्दीन अंसारी ने अपने भाषण में इस बात पर जोर दिया कि हम इतिहास विकृत करने की कोशिशें सफल नहीं होने देंगे।
उन्होंने कहा कि देश की स्वतंत्रता में सभी धर्मों के लोगों की क़ुर्बानी शामिल है, लेकिन दिल्ली से लाहौर तक हर पेड़ पर उलेमा का शव लटका हुआ था उसे कौन भुला सकता है। उन्होंने धारा 341 में धार्मिक कैद को खत्म करने की मांग करते हुए कहा कि संविधान में धर्म आधारित रिज़र्वेशन मना है लेकिन आज भी धर्म के ही आधार पर आरक्षण जारी है कि इसलिए हम चाहते हैं कि धर्म की कैद हटाकर जाति के आधार पर आरक्षण सुनिश्चित बनाया जाए और जो आरक्षण हिन्दू धोबी को मिलता है वही मुस्लिम धोबी को मिलना चाहिए।
आपको बता दें कि इस अवसर पर अबरार अहमद ने आपसी एकता पर जोर देते हुए उन्होंने शिक्षा को विकास का गहना बताया। उन्होंने कहा कि हमें शहीदों की क़ुर्बानी को भूलना नहीं चाहिए, अगर वह सीमा सुरक्षा न करे तो आज भी हम असुरक्षित हैं।
फराह हुसैन ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में अगर लोगों ने एकजुट होकर बलि न दी होती तो देश आज़ाद नहीं होता।

TOPPOPULARRECENT