Monday , September 25 2017
Home / Technology / आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के इंसानों से टकराव को खत्म करने के लिए गूगल कर रहा सिस्टम विकसित

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के इंसानों से टकराव को खत्म करने के लिए गूगल कर रहा सिस्टम विकसित

 दिल्ली : गूगल एक ऐसा सिस्टम विकसित करने पर काम कर रहा है जिससे आर्टिफिशल इंटेलिजेंस को बेकाबू होने से रोका जा सके और इंसानों से इसके टकराव को भी टाला जा सके। कंपनी की ‘डीप माइंड’ डिवीजन, टेस्ला के ऐलन मस्क के द्वारा फंड की गई रिसर्च ग्रुप के साथ मिलकर इस पर काम कर रही है जिससे कि मशीनें एक निश्चित तरीके से काम करें।

इसके लिए इस ग्रुप ने एक रिसर्च पेपर के द्वारा यह बताया कि किस तरह से इंसानों के फीडबैक का इस्तेमाल करके मशीनों के काम करने के तरीके को बेहतर बनाया जा सकता है। इस आर्टिफिशल इंटेलिजेंस रिसर्च में एक पॉप्युलर तकनीक की मदद ली जा रही है। यह सॉफ्टवेयर को कुछ टास्क देता है और उसे पूरा करने पर उन्हें इनाम भी देता है। हालांकि कई मौकों पर इस सॉफ्टवेयर को चोरी करते पकड़ा गया, जब वह शॉर्टकट इस्तेमाल कर या फिर सिस्टम की कमियों का फायदा उठाकर अपने परिणाम बेहतर करने में सफल रहा।

इस रिसर्च में इस्तेमाल की जा रही यह तकनीक अभी काफी समय लेती है इसलिए अभी इसका इस्तेमाल करना संभव नहीं है, लेकिन यह मशीनों को भविष्य में काबू में रखने के लिए एक आइडिया जरूर दे देती है। कई बार ऐसा देखा गया है कि आर्टिफिशल इंटेलिजेंस ठीक से काम नहीं कर पाता या फिर इंसानों से इसका टकराव हो जाता है। अगर यह रिसर्च पूरी तरह से कामयाब रहती है तो आने वाले वक्त में कंपनियों की आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर निर्भरता बढ़ेगी।

TOPPOPULARRECENT