Tuesday , October 24 2017
Home / Hyderabad News / आर टी सी में 500 क्लर्कस की जायदादों में भरती

आर टी सी में 500 क्लर्कस की जायदादों में भरती

शहर में तीन नए बस डेपो का क़ियाम, बैट्री से चलने वाली बसों को चलाने का मंसूबा

शहर में तीन नए बस डेपो का क़ियाम, बैट्री से चलने वाली बसों को चलाने का मंसूबा
हैदराबाद । (सियासत न्यूज़) आंधरा प्रदेश स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कोर्पोरेशन में कल्रीकल स्टाफ़ की कमी को दूर करने के लिए 500 क्लर्कस की जायदादों में भरती अमल में लाइ जा रहि हैं और साथ ही साथ राजय सरकार‌ की इजाज़त हासिल होने के तुरंत बाद बस डेपो में वाके गेऱेज‌ में काम करने के लिए 6000 हज़ार वर्कर्स और 2 हज़ार मेकानिकस की खाली जायदादों कि भरती होरही हैं।

शहर हैदराबाद में बसों की तादाद में बढोतरी करने-ओ-मुसाफ़िरों को सफ़र की बेहतर सहूलतें देने के लिए काचीगोड़ा, बन्डला गौड़ा और चुंगी चरला में 3 नए बस डेपो का बहुत जल्द क़ियाम अमल में लाया जाएगा। आज शाम बस भवन में दो साल पूरा होने और मज़ीद एक साल की बढोतरी दिए जाने पर इन से मुलाक़ात करने वाले अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए मिस्टर बी प्रसाद राउ नायब सदर नशीन‍ ओ‍ मेनेजिंग डायरैक्टर आंधरा प्रदेश स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कोर्पोरेशन ने इस बात को जाहिर‌ किया ।

उन्हों ने बताया कि आर टी सी में बहुत जल्द सोलार अनर्जी से इस्तिफ़ादा करते हुए बैट्री के ज़रीये चलने वाली बसों का इस्तिमाल करने पर संजीदगी से ग़ौर किया जा रहा है।

उन्हों ने ओर‌ कहा कि रियासत के एसे 5 हज़ार मंडल‌ हैं जहां आज तक भी बस की सहूलत नहीं है। इस लीए आर टी सी ने इन 5 हज़ार मंड‌लों के लिए कम अज़ कम एक हज़ार बसें चलाने के लिए असर दायक‌ इक़दामात कि शुरुआत‌ कि है। मेनेजिंग डायरेक्टर ए पी एस आर टी सी ने कहा कि रियास्ती जनता में निजी गाड़ीयों में सफ़र के मुक़ाबले में आर टी सी बसों में आराम और महफ़ूज़ सफ़र को तर्जीह देने के साथ साथ आर टी सी की ख़िदमात से भरपूर फाइदा उठाने के रुजहान को बढावा दिया गया है, जिस के नतीजे में आज जनता आर टी सी बसों में सफ़र करने को ही तर्जीह दे रहे हैं।

उन्हों ने ओर‌ कहाकि आर टी सी में लेटेस्ट‌ टेक्नोलोजी से भी भरपूर इस्तिफ़ादा हासिल करते हुए बसों में ही ड्राईवरस के ज़रीये ही मुसाफ़िरों को टिकेट देने को यक़ीनी बनाने के लिए 10 हज़ार टीकेट‌ इजराई मशीनें ख़रीदी गई। बस ड्राईवरस को इन मशीनों को ऑपरेट करने (यानी मशीन चलाने की) की बेहतर तर्बीयत देकर टिकेट इजराई की ज़िम्मेदारी भी ड्राईवरस को सोंपी गई।

इन टिक्टस इजराई मशीनों की खरीदने के मुसबत नतीजें हासिल हो रहे हैं। उन्हों ने बताया कि बसों की तय किये हुए वक़्त पर रवानगी-ओ-आमद की ग़ैर यक़ीनी सूरत-ए-हाल को खतम‌ करने के लिए भी बड़े पैमाने पर इक़दामात किए गए हैं।

इस मौके पर सेक्रेटरी-ओ-एगज़ीकीटीव डायरेक्टर आर टी सी के इलावा मिस्टर किरण रेड्डी चीफ़ पब्लिक रेलेशन्ज़ ऑफीसर ए पी एस आर टी सी भी मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT