Tuesday , October 24 2017
Home / Business / आर बी आई की शरह सूद में तबदीली ना लाने का ख़ौरमक़दम

आर बी आई की शरह सूद में तबदीली ना लाने का ख़ौरमक़दम

नई दिल्ली, १७ दिसम्बर: (पी टी आई) वज़ीर फ़ीनानस परनब मुकर्जी ने पालिसी शरह में कोई तबदीली ना लाने रिज़र्व बैंक आफ़ इंडिया के फ़ैसला का ख़ौरमक़दम किया और तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि आने वाले हफ़्तों में इफ़रात ज़र की शरह एतिदाल पर आ जाएगी। तिजारत

नई दिल्ली, १७ दिसम्बर: (पी टी आई) वज़ीर फ़ीनानस परनब मुकर्जी ने पालिसी शरह में कोई तबदीली ना लाने रिज़र्व बैंक आफ़ इंडिया के फ़ैसला का ख़ौरमक़दम किया और तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि आने वाले हफ़्तों में इफ़रात ज़र की शरह एतिदाल पर आ जाएगी। तिजारती रुजहानात को बेहतर बनाने की ज़रूरत है और आने वाले महीनों में शरह पैदावार को भी बहाल किया जाना चाहीये।

परनब मुकर्जी ने पार्लीमैंट हाऊस कामपलेक्स के बाहर अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए कहाकि मेरा क़वी ईक़ान है कि आने वाले हफ़्तों में इफ़रात-ए-ज़र की शरह मोतदिल हो जाएगी। मआशी कसादबाज़ारी पर ईज़हार-ए-तशवीश करते हुए रिज़र्व बैंक आफ़ इंडिया ने अपनी शरह पालिसीयों में तबदीली नहीं की है।

रुपये की क़दर में कमी का भी जायज़ा लेने आर बी आई ने कल फ़ैसला किया था। परनब मुकर्जी ने कहाकि मैं बैरूनी ज़र-ए-मुबादला मार्किट में रुपय की गिरती क़दर पर क़ाबू पाने के लिए गवर्नर आर बी आई के इक़दाम का ख़ौरमक़दम करता हूँ। अमेरीकी डालर के मुक़ाबिल हिंदूस्तान की करंसी मैं बतदरीज गिरावट दर्ज की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT