Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / आसाम तशद्दुद में मरने वालों की तादाद 78 हुई, एन आई ए तफ़तीश करेगी

आसाम तशद्दुद में मरने वालों की तादाद 78 हुई, एन आई ए तफ़तीश करेगी

आसाम के कोकराझार ज़िले में अस्करीयत पसंद तंज़ीम एन डी एफ़ बी (एस) के हमले में गुज़िश्ता मंगल को क़बाइलीयों के क़त्ल के बाद आज सुबह तशद्दुद के ताज़ा वाक़ियात की ख़बर है| अब तक तशद्दुद में मरने वालों की तादाद 78 हो गई है

आसाम के कोकराझार ज़िले में अस्करीयत पसंद तंज़ीम एन डी एफ़ बी (एस) के हमले में गुज़िश्ता मंगल को क़बाइलीयों के क़त्ल के बाद आज सुबह तशद्दुद के ताज़ा वाक़ियात की ख़बर है| अब तक तशद्दुद में मरने वालों की तादाद 78 हो गई है

सोनितपुर और कोकराझार अज़ला का दौरा करने के बाद मर्कज़ी वज़ीर राजनाथ सिंह ने कहा कि एन डी एफ़ बी (एस) की तरफ़ से किए गए हमलों की तहक़ीक़ात क़ौमी जांच एजेन्सी (एन आई ए) करेगी और उन्होंने यक़ीन दिलाया कि अगर ज़रूरत पड़ी तो फ़ौज आसाम हुकूमत की मदद करेगी|

आसाम में बोडो इंतेहापसंदों के हमले और क़बाइलीयों की जवाबी कार्रवाई में मरने वालों कि तादाद 78 पहुंच गई है. एक पुलिस अफ़्सर ने बताया कि तशद्दुद की ताज़ा वारदात आज सुबह कोकराझार के गोसाएगाव में पेश आया जहां क़बाइलीयों ने बोडो बिरादरी के लोगों के बहुत से घर जला दिए. इस से पहले मंगल को अस्करीयत पसंदों ने हमलों में लोगों को मार दिया था| पूरे ज़िला में कर्फ़यू होने के बावजूद दूसरे दिन भी क़त्ल-ए-आम जारी रहा.

पुलिस के एक तर्जुमान ने बताया कि मंगल को अस्करीयत पसंदों के हमले में कल 71 लोग मारे जा चुके हैं, जिन में 43 सोनितपुर में, 25 को कोकराक्षार में और तीन चिराग़ ज़िला में इन का शिकार हुए. तर्जुमान के मुताबिक़ आज छः लाशें बरामद किए गए, जिन में ज़्यादा तर ख़वातीन और बच्चे हैं.

सोनितपुर और चिराग़ अज़ला के मुतास्सिर इलाक़ों और दभरी और ख़ाना अज़ला के कुछ हिस्सों में कर्फ़यू लगाया गया है. मर्कज़ी वज़ीर‌ राज नाथ सिंह ने तशद्दुद मुतास्सिर सोनितपुर का दौरा किया और बोडो अस्करीयत पसंदों के तशद्दुद के बाद के हालात का जायज़ा लिया. उन्हों ने एलान किया कि इस तरह की दहश्त का मर्कज़ की क़तई बर्दाश्त नहीं करने की पालिसी के तहत एन डी एफ़ बी (एस) के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी.

तंज़ीम के ख़िलाफ़ मुहिम्मात के बारे में पूछे जाने पर राजनाथ सिंह ने कहा, तंज़ीम के ख़िलाफ़ यक़ीनन मुहिम शुरू की जाएंगी लेकिन ये नहीं कहा जा सकता कि कब. सिंह ने कहा, हमें उसे सिर्फ़ एक आम शिद्दत पसंद वाक़िये के तौर पर नहीं देख सकते. ये दहश्त का वाक़िया है. रियासत और मर्कज़ दोनों हुकूमतें दहशतगर्दी से इसी तरह निपटेगी जैसे इस से निमटा जाना चाहिए.

उन्होंने कहा, हुकूमत ने उसे बहुत संजीदगी से लिया है. हम ने उन के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करने का फ़ैसला किया है. वज़ीर-ए-दाख़िला ने कहा कि मर्कज़ी नियम फ़ौजी दस्तों की 50 कंपनियां पहले ही आसाम भेज चुका है. उन्होंने इस तंज़ीम के साथ बातचीत के इमकान को मुस्तरद किया.

उन के साथ क़बाइली उमूर के वज़ीर जाल ओराम भी थे जो इलाक़े में रोकेगे. उन्होंने मुतास्सिरा गांव का दौरा किया और लोगों से बात की. इस बारे में वो मर्कज़ी हुकूमत को जल्द एक रिपोर्ट सौपेंगे. सिंह के साथ वज़ीर-ए-दाख़िला किरण रिजिजू भी चारशम्बे की शाम यहां पहुंचे. उन्होंने आसाम के वज़ीर-ए-आला तरूण गोगोई और सीनियर हुक्काम के साथ मुलाक़ात की.

वज़ीर-ए-दाख़िला ने बताया कि हकूमत-ए-हिन्द को भूटान और मयांमा से भी उन के इलाक़े से दहश्तगरदों को निकाल बाहर करने के सिलसिले में यक़ीन दहानी मिला है. उन्होंने कहा कि वज़ीर-ए-ख़ारजा सुषमा स्वराज ने उन्हें इस सिलसिले में मतला किया था.

समझा जाता है कि बोडो अस्करीयत पसंद तंज़ीम ने भारत भूटान सरहद पर घने जंगल में कुछ अड्डे बना लिए हैं. हुक्काम के मुताबिक़ जब भी सिक्योरिटी फ़ोर्स तंज़ीम के के डर के ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हैं तो वो अक्सर भूटान के इलाक़े में चोरी छिपे चले जाते हैं और उन्हें तलाश पाना मुश्किल होता है.

साल 2003-04 में भूटान ने उल्फ़ा अस्करीयत पसंदों के ख़िलाफ़ वसी मुहिम चलाई थी और मुल्क से उनके ठिकानों को तबाह कर दिया था. पुलिस तर्जुमान के मुताबिक़ बुरी तरह मुतास्सिर सोनितपुर ज़िला में आज सुबह अरणाचल प्रदेश की सरहद से लगे जिंजिया थाने के तहत आने वाली मैतालू बस्ती से छह और लाश बरामद किए गए हैं.

वज़ीर-ए-दाख़िला ने नामा निगारों को बताया कि वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने वाक़िये को बहुत संजीदगी से लिया है और हर एक लवाहिक़ीन को दो लाख रुपय देने का एलान किया है. नई दिल्ली में सदर प्रण‌ब मुखर्जी ने आसाम के को कोकराक्षार और सोनितपुर अज़ला में तशद्दुद की मुज़म्मत की और कहा कि दहश्त और तशद्दुद की इस तरह की सरगर्मीयों से सख़्ती से निमटा जाना चाहिए

TOPPOPULARRECENT