Thursday , September 21 2017
Home / Khaas Khabar / आसिफ़नगर पुलिस स्टेशन में ख़ातून फ़ौत

आसिफ़नगर पुलिस स्टेशन में ख़ातून फ़ौत

हैदराबाद 24 अगस्त: पुलिस के अवाम दोस्त होने के जज़बा पर एक और ज़रब पहूँचाने वाला वाक़िया पेश आया। जारीया माह के दौरान पुलिस की मुबय्यना ज़्यादतियों के दो वाक़ियात पेश आए जिनमें दो अफ़राद की मौत वाक़्ये हो गई। 3 अगस्त को मारीडपल्ली पुलिस स्टेशन में पुलिस की मारपीट की ताब ना लाकर बानपा फैत हो गया था जिसके नतीजे में मुक़ामी ब्रहम हुजूम ने पुलिस स्टेशन पर हमला कर दिया था।

अंदरून 20 दिन एक और वाक़िया पेश आया जिसमें आसिफ़नगर पुलिस स्टेशन एक ख़ातून की पुलिस हिरासत में मौत वाक़्ये हो गई जिसके बाद कशीदगी पैदा हो गई।

पुलिस कमिशनर एम महेंद्र रेड्डी ने कार्रवाई करते हुए ख़ाती ओहदेदारों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हुए उन्हें फ़ौरी मुअत्तल कर दिया। जिन ओहदेदारों को मुअत्तल कर दिया गया उनमें इंस्पेक्टर आसिफ़नगर पुलिस स्टेशन के सुर्यकांत, डीटेक्टीव सब इंस्पेक्टर रुशी कैश, अस्सिटेंट सब इंस्पेक्टर शेख़ चांद बाशा, हैडकांस्टेबल मुहम्मद नादिर अली, कांस्टेबल एस प्रताप, कांस्टेबल्स मुहम्मद ख़्वाजा और मुहम्मद मंज़ूर अहमद शामिल हैं।

तफ़सीलात के मुताबिक़ भोजागुट्टा मह्दीपटनम की साकिन ख़ातून 38 साला निका पदमा को सरक़ा के इल्ज़ाम में हिरासत में लिया गया था और इस से पिछ्ले दो दिन से कड़ी तफ़तीश की जा रही थी।

ज़राए ने बताया कि मह्दीपटनम की साकिन दीप्ति राज ने आसिफ़नगर पुलिस स्टेशन में 21 अगस्त को सरक़ा की एक शिकायत दर्ज करवाई थी जिसमें ये बताया गया था कि देढ़ साला लड़के को दवाख़ाने में ईलाज की ग़रज़ से गई हुई थी जहां पर इस का नामालूम अफ़राद ने हैंड बयाग का सरक़ा कर लिया था जिसमें तिलाई जे़वरात-ओ-क़ीमती इश्याय मौजूद थे।

पुलिस ने मुक़द्दमा दर्ज करके दवाख़ाना के सी सी टीवी कैमरे के वीडीयो फूटेज का तजज़िया किया जिसमें दरख़ास्त गुज़ार ख़ातून ने भोजागुट्टा की साकिन मंजू की निशानदेही की थी जिस पर पुलिस ने फ़ौरी कार्रवाई करते हुए उसे हिरासत में ले लिया था।

मंजू ने बयाग का सरक़ा कर लिया और मस्रूक़ा हैंड बयाग निका पदमा के मकान में छिपा दिया। पुलिस ने पदमा को भी हिरासत में लेते हुए मस्रूक़ा बयाग बरामद कर लिया लेकिन इस में तिलाई जे़वरात मौजूद नहीं थे।

बताया जाता हैके पदमा को हिरासत में लेने के बाद इंस्पेक्टर आसिफ़नगर के सुर्यकांत की निगरानी में क्राईम टीम ने इस की कड़ी तफ़तीश की थी और इस तफ़तीश के दौरान कोई भी ख़ातून कांस्टेबल वहां मौजूद नहीं थी। बाद पोस्टमार्टम पदमा की लाश को इस के रिश्तेदारों के हवाले कर दिया गया और विजयनगर कॉलोनी में वाक़्ये श्मशानघाट में आख़िरी रसूमात अदा की गईं।

कमिशनर पुलिस ने वाक़िया का सख़्त नोट लेकर संगीन ग़फ़लत-ओ-लापरवाही बरतने वाले सात पुलिस मुलाज़िमीन बिशमोल इंस्पेक्टर आसिफ़नगर को मुअत्तल कर दिया और इस मुआमले की तहक़ीक़ात के लिए अस्सिटेंट कमिशनर आफ़ पुलिस सेंट्रल क्राईम स्टेशन सोमेश़्वर राव‌ को तहक़ीक़ाती ओहदेदार मुक़र्रर किया। कमिशनर पुलिस ने मुअत्तल शूदा पुलिस ओहदेदारों को सिटी आर्म्ड रेज़ो हेडक्वार्टर्स को रिपोर्ट करने और जवाइंट कमिशनर हेडक्वार्टर की इजाज़त के बग़ैर शहर ना छोड़ने की हिदायत दी है। रात देर गए कमिशनर पुलिस ने पी वेंकटेश्वरलू को इंस्पेक्टर आसिफ़नगर मुक़र्रर करने के अहकाम जारी किए।

TOPPOPULARRECENT