Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / आसफ़जाही दौर के निज़ाम अदलिया-ओ-इंसाफ़ को दुनिया भर में मुनफ़रद मुक़ाम

आसफ़जाही दौर के निज़ाम अदलिया-ओ-इंसाफ़ को दुनिया भर में मुनफ़रद मुक़ाम

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्रशेखर राव‌ ने कहा कि निज़ाम दौरे हुकूमत के अदालती निज़ाम की नज़ीर नहीं मिलती जो दुनिया भर में अपनी मुनफ़रद शनाख़्त था।

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्रशेखर राव‌ ने कहा कि निज़ाम दौरे हुकूमत के अदालती निज़ाम की नज़ीर नहीं मिलती जो दुनिया भर में अपनी मुनफ़रद शनाख़्त था।

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना यहां सिटी सिविल कोर्ट पुरानी हवेली में मुनाक़िदा एक तक़रीब से मुख़ातब थे। सिटी सिविल कोर्ट पुरानी हवेली के 150 साला तकमील के ज़िमन में तक़ारीब का इनइक़ाद अमल में लाया गया था।

जिस में चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने बह हैसियत मेहमान ख़ुसूसी शिरकत की और अपने ख़िताब में निज़ाम दौरे हुकूमत के अदालती निज़ाम की सताइश की। उन्होंने वुकला बिरादरी को तीक़न दिया कि तेलंगाना की हुकूमत हर महाज़ पर वुकला की तरक़्क़ी के लिए इक़दामात करेगी।

उन्होंने कहा कि तेलंगाना तहरीक में वुकला के तआवुन को कभी फ़रामोश नहीं किया जा सकता। उन्होंने सिटी क्रीमिनल कोर्ट की इमारत को बहुत जल्द मुंतक़िल करने और नए इमारत के क़ियाम को जल्द अज़ जल्द यक़ीनी बनाने का वादा क्या। चन्द्रशेखर राव‌ ने कहा कि चंचलगुडा सेंट्रल जेल को चेर्लापल्ली जेल के क़रीब मुंतक़िल करते हुए चंचलगुडा जेल की इमारत और मलकपेट प्रिंटिंग प्रेस को मुंतक़िल करते हुए इस इमारत की अराज़ी को सिटी क्रीमिनल कोर्ट के लिए इस्तेमाल में लाया जाएगा।

उन्होंने सिटी सिविल कोर्ट में शफ़्फ़ाफ़ और सेहत बख़श पानी की सरबराही के प्लांट को फ़ौरी मंज़ूरी दे दी और वुकला के लिए देरीना हैलत कार्ड मसले पर ग़ौर करने और इमकनाजात की अराज़ी के लिए ज़रूरी इक़दामात का भरोसा दिलाया। और कहा कि 100 करोड़ के वेलफेयर फ़ंड की फ़ौरी इजराई अमल में लाई जाएगी।

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना वुकला बिरादरी के मुतालिबात को तकमील के साथ उन से एक मुतालिबा किया कि वो अदालतों में ज़ेर अलतवा सरकारी मुक़द्दमात की जल्द अज़ जल्द यकसूई के इक़दामात करें जिस के तहत 5 लाख करोड़ मालियती जायदादें ग़ैर मजाज़ काबिज़ीन का शिकार हैं।

उन्होंने वुकला से कहा कि अगर इन जायदादों को आज़ाद करवा लिया जाये तो सुनहरे तेलंगाना के ख़ाब को शर्मिंदा ताबीर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोठी के ई एन टी हॉस्पिटल की ज़मीन को भी क़बजे की नज़र बनाया गया। चीफ़ मिनिस्टर ने अफ़सोस का इज़हार करते हुए कहा कि उस वक़्त के चीफ़ मिनिस्टर ने ऐडवोकेट जनरल को ख़ामोश रहने की हिदायत दी थी।

इस तरह हर महाज़ पर तेलंगाना के साथ ना इंसाफ़ी की गई। उन्होंने वुकला को यक़ीन दिया बहुत जल्द तेलंगाना हाईकोर्ट का क़ियाम अमल में आएगा। उन्होंने सिटी सिविल कोर्ट की 150 साला तक़ारीब पर वुकला को मुबारकबाद दी और कहा कि 1836 में इस अदालत का क़ियाम अमल में आया था और 1875 में हाईकोर्ट क़ायम हुआ। के चन्द्रशेखर राव‌ ने अपने रिवायती अंदाज़ में कहा कि फिर भी चंद लोग हैदराबाद पर अपना हक़ जताते हैं और हैदराबाद की तामीर को अपना कारनामा तसव्वुर करते हैं।

उन्होंने कहा कि गुलबर्गा , औरंगाबाद और हैदराबाद में उस वक़्त क़ानून की तालीम का निज़ाम मौजूद था। उन्होंने तेलंगाना की तरक़्क़ी के लिए जारी कोशिशों का तज़किरा किया और बताया कि 30 लाख एकड़ बंजर अराज़ी में 3 लाख एकड़ को सनअती अग़राज़ के इस्तेमाल में लाने के काबिल बनालिया गया है और सिंगापुर के सनअतकारों को राग़िब करने के लिए पेशकश की जा चुकी है।

इस मौके पर चीफ़ मिनिस्टर ने तेलंगाना तहरीक में वुकला के रोल और यादगार तसावीर पर मुश्तमिल एलबम का रस्म इजरा अंजाम दिया। क़ब्लअज़ीं सिटी सिविल कोर्ट अहाता में के सी आर की आमद पर इन का ज़बरदस्त इस्तिक़बाल किया गया और बतकमां का मुज़ाहरा पेश किया गया। इस तक़रीब में डिप्टी स्पीकर तेलंगाना असेंबली पदमा देवेंद्र रेड्डी के अलावा बार एसोसीएशन के
सदर जगत बाल रेड्डी और दुसरे मौजूद थे।

TOPPOPULARRECENT