Sunday , May 28 2017
Home / Khaas Khabar / आज़मगढ़: शिबली कॉलेज के छात्रों ने नजीब मामले की सीबीआई जांच की मांग की

आज़मगढ़: शिबली कॉलेज के छात्रों ने नजीब मामले की सीबीआई जांच की मांग की

आजमगढ़ : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद की गुमशुदगी के खिलाफ गुरुवार को शिबली कॉलेज के छात्रों ने एक विरोध कार्यक्रम किया। इस कार्यक्रम में शिबली कॉलेज के छात्रों के साथ-साथ अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्रसंघ के पदाधिकारियों के साथ छात्रों ने भी भाग लिया। छात्रों ने एकजुट होकर नजीब मामले की सीबीआई से जाँच करने की मांग की.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

हौसला डॉट नेट के अनुसार एएमयू् छात्रसंघ के उपाध्यक्ष नदीम अंसारी ने कहा कि पिछले तीन महीने से देश की राजधानी दिल्ली से जेएनयू का एक निर्दोष छात्र नजीब अहमद लापता है और देश की सबसे तेज पुलिस बल होने का दावा करने वाली दिल्ली पुलिस अब तक इसका पता नहीं लगा पाई है। अगर देश की राजधानी में ही छात्र सुरक्षित नहीं है तो देश के अन्य क्षेत्रों का क्या हाल होगा? जब तक नजीब मिल नहीं जाता हमारा आंदोलन जारी रहेगा।

शिबली कॉलेज छात्रसंघ के अध्यक्ष अरसलान खान ने अपने संबोधन में कहा कि शिबली कॉलेज के छात्र शुरू से ही नजीब की माँ के दर्द में उनके साथ खड़े हैं और शिबली कालेज के छात्रों ने दिल्ली के जंतर-मंतर से लेकर आजमगढ़ तक नजीब के लिए विरोध किया. आगे भी आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक कि नजीब वापस नहीं आ जाता.

उन्होंने कहा कि एएमयू छात्रसंघ देश व प्रदेश में नजीब के लिए जो भी आंदोलन कर रहे हैं शिबली के छात्र उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े थे और आगे भी खड़े रहेंगे. एएमयू छात्रसंघ के महासचिव नबील उस्मानी ने कहा कि नजीब का लापता होना केवल एक छात्र की समस्या नहीं है बल्कि देश के हर छात्र से जुड़ा मामला है, छात्रों की पहचान और हिफाजत का मामला है। इसलिए आज हम लोग अलीगढ़ से शुरू आंदोलन को देश और राज्य के हर कोने तक पहुंचा रहे हैं। और यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक एक माँ को उसका खोया हुआ लाल न मिल जाए। उन्होंने कहा कि हम आजमगढ़ के सभी छात्रों को मुबारकबाद पेश करते हैं कि वह एक माँ को उसका बेटा वापस लाने में उनका साथ दे रहे है और इतनी बड़ी संख्या में शामिल हो कर कार्यक्रम को सफल बनाया.

पूर्व उपाध्यक्ष माजन ज़ैदी ने कहा कि नजीब की समस्या आज पूरे देश की समस्या बन चुका है। हर माँ नजीब में अपना बेटा देख रही है और हर बेटा नजीब की माँ में अपनी माँ को देख रहा है क्योंकि यह घटना किसी भी छात्र के साथ हो सकता है। ऐसे में सभी छात्रों की जिम्मेदारी बनती है कि वह चाहे आजमगढ़ के हों या अलीगढ़ या देश के किसी भी कोने से हूँ , हम इस आवाज को मिल कर उठाएंगे ताकि अब किसी दूसरे छात्र के साथ ऐसा न हो सके. दिलली पुलिस व खुफिया एजेंसियां अब तक नजीब को खोजने में विफल रही हैं यह उनके काम पर सवाल खड़ा करता है। इसलिए हम देश के प्रधानमंत्री से मांग करते हैं कि वे तुरंत नजीब के मामले में सीबीआई जांच का आदेश करें क्योंकि नजीब का दिल्ली से लापता होना केवल हमारी सुरक्षा एजेंसियों के लिए शर्म की बात नहीं है बल्कि भारत सरकार के लिए भी है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT