Thursday , August 24 2017
Home / Delhi News / आज़ादवदी मसाइल पर बी जे पी क़ाइदीन का ग़ौर-ओ-ख़ौज़

आज़ादवदी मसाइल पर बी जे पी क़ाइदीन का ग़ौर-ओ-ख़ौज़

नई दिल्ली: बी जे पी के सीनियर क़ाइदीन एल के आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, शांता कुमार और यशवंत सिन्हा जिन्होंने बिहार की इंतेख़ाबी हज़ीमत के बाद अमलन बग़ावत कर दी, उनकी गुज़िश्ता रोज़ यहां मीटिंग मुनाक़िद हुई जिसमें एम पी कीर्ति आज़ाद की मुअत्तली और पार्टी क़ियादत से मुताल्लिक़ मसाइल पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया गया।

इन की 10 नवंबर को मुनाक़िदा मीटिंग के बरख़िलाफ़ जबकि इन्होंने पार्टी क़ियादत के ख़िलाफ़ शदीद बयान जारी किया था, इस मर्तबा फ़ौरी तौर पर कोई बरसर-ए-आम तबसरा सामने नहीं आया जबकि इन क़ाइदीन के क़रीबी ज़राए का कहना है कि वो मुनासिब-ए-वक़्त और फ़ोर्म में अपने मसाइल उठाईंगे।

ये पूछने पर कि बी जे पी से आज़ाद की मुअत्तली का मसला ज़ेर-ए-बहस आया, एक वेटरन लीडर ने कहा कि ये तो ज़ाहिर है, क्यों कि मीटिंग का पस-ए-मंज़र मानी रखता है। आज़ाद को दिल्ली क्रिकेट बॉडी डी डी सी ए में मुबय्यना करप्शन पर वज़ीर फाइनेंस अरूण जेटली को शिद्दत से निशाना बनाए जाने पर पार्टी से मुअत्तल कर दिया गया है।

सीनियर लीडर ने ताहम अपनी मीटिंग की तफ़सीलात के इफ़शा-ए-से गुरेज़ किया। आडवाणी, शांता कुमार और यशवंत सिन्हा गुज़िश्ता रोज़ लग भग दोपहर के वक़्त मुरली मनोहर जोशी की क़ियामगाह पहूंचे और एक घंटा आपस में मिलकर ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किए। शांता कुमार ने इस मीटिंग के बाद रवानगी के मौक़े पर ज़्यादा तफ़सीलात के इन्किशाफ़ के बग़ैर बताया कि हमारी मीटिंग हुई, हमने चाय नोश की।

उन वेटरन क़ाइदीन के क़रीबी ज़राए ने कहा कि वो उनकी फ़िक्रमंदी और उन की जानिब से उठाए गए मसाइल पर पार्टी के रद्द-ए-अमल से भी नाख़ुश हैं। क़ियादत की जानिब से ऐसा तास्सुर दिया गया है कि वो उनकी राबिता की कोशिश कर रहे हैं लेकिन हक़ीक़त में ठोस तौर पर कुछ भी नहीं हुआ है।

TOPPOPULARRECENT