Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / आज़ाद , कश्मीर केलिए कुछ नहीं करसके तो तिलंगाना केलिए क्या करेंगे, ज़हीर उद्दीन अली ख़ांन

आज़ाद , कश्मीर केलिए कुछ नहीं करसके तो तिलंगाना केलिए क्या करेंगे, ज़हीर उद्दीन अली ख़ांन

हैदराबाद । 4 । अक्टूबर : ( सियासत न्यूज़ ) । अलैहदा रियासत तलंगाना के आजलाना क़ियाम के मुतालिबा पर मुसलसल इक्कीस दिन से जारी आम हड़ताल में शामिल तलंगाना हामी सरकारी मुलाज़मीन की क़ुर्बानियां रायगां नहीं जाएंगी । ज़हीर उद्दीन अली ख़ान ने

हैदराबाद । 4 । अक्टूबर : ( सियासत न्यूज़ ) । अलैहदा रियासत तलंगाना के आजलाना क़ियाम के मुतालिबा पर मुसलसल इक्कीस दिन से जारी आम हड़ताल में शामिल तलंगाना हामी सरकारी मुलाज़मीन की क़ुर्बानियां रायगां नहीं जाएंगी । ज़हीर उद्दीन अली ख़ान ने बी आर के भवन में जारी सकालाजानाला समए में शामिल सरकारी मुलाज़मीन से ख़िताब करते हुए इन ख़्यालात का इज़हार किया । उन्हों ने कहा कि तलंगाना की अलैहदगी का मुतालिबा तलंगाना की चार करोड़ अवाम का जमहूरी हक़ है । उन्हों ने मज़ीद कहा कि मुसलसल हड़ताल और सैंकड़ों नौजवानों की जानों की क़ुर्बानीयों को मर्कज़ी और रियास्ती हुकूमतें यकसर नज़रअंदाज कररही हैं और तलंगाना तहरीक और आम हड़ताल को बेअसर साबित करने की मज़मूम कोशिश की जा रही है । ज़हीर उद्दीन अली ख़ान ने तलंगाना की हिमायत करने के बलंद बाँग दावे करने वाले मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों के रोल पर ब्रहमी का इज़हार करते हुए कहा कि तिलंगाना की अवाम की क़ुर्बानीयों को नज़रअंदाज कर के मज़कूरा अवामी नुमाइंदे अपनी कुर्सीयों के तहफ़्फ़ुज़ और आनधराई सरमाए दारों और हुकमरानों की ख़ुशनुदी हासिल करने में ज़्यादा मसरूफ़ दिखाई दे रहे हैं । उन्हों ने कहाकि तलंगाना मुख़ालिफ़ीन तलंगाना हामी सयासी क़ाइदीन के रवां रवैय्या से इस्तिफ़ादा उठाने की कोशिश कररहे हैं उन्हों ने कहाकि अलैहदा तलंगाना की तहरीक में शामिल तलंगाना हामी क़ाइदीन का संजीदा रवैय्या ज़रूरी है और सयासी क़ाइदीन की मुत्तहदा जद्द-ओ-जहद मर्कज़ और रियास्ती हुकूमत पर दबाव बढ़ाने और अलैहदा रियासत तलंगाना के क़ियाम में मददगार साबित होगी । उन्हों ने आंधरा प्रदेश कांग्रेस इंचार्ज ग़ुलाम नबी आज़ाद की जानिब से तलंगाना के हस्सास मसले पर ब्यान देने और तलंगाना के मसले को हल करने के तीक़न पर सख़्त ब्रहमी का इज़हार करते हुए कहा कि ग़ुलाम नबी आज़ाद का ताल्लुक़ कश्मीर से है जहां पर मुसलसल बेक़सूर लोगों के साथ ज़्यादतियां की जा रही हैं और कई बेक़सूर अपनी जां गंवा बैठे हैं बावजूद इस के आज़ाद कश्मीर के हालात को मामूल पर लाने के लिए कुछ नहीं करसके तो क्या तलंगाना के मसले पर आज़ाद का ब्यान हमारे लिए काबिल-ए-क़बूल है । ज़हीर उद्दीन अली ख़ान ने हड़ताल में शामिल तमाम सरकारी मुलाज़मीन से हमदर्दी और यगानगत का मुज़ाहरा किया । ऐम वेद कुमार नायब सदर तलंगाना पर जा फ्रंट सिंह-ए-अल्लाह ख़ान नसीर सुलतान तलंगाना वीलफ़ीर कौंसल शहबाज़ अली ख़ान अमजद सदर एम क्यू एम निसार अहमद बैग ऐडवोकेट के इलावा दीगर तलंगाना हामी क़ाइदीन भी इस मौक़ा पर मौजूद थे । इस मौक़ा पर पुलिस का भारी बंद-ओ-बस्त भी बी आर के भवन के अंदरूनी व बीरोनी हिस्सा में किया गया था ।

TOPPOPULARRECENT