Sunday , August 20 2017
Home / Bihar News / आज़ाद भी इन्तिखाब लडूंगा, तो जीत जाऊंगा : शत्रुघ्न सिन्हा

आज़ाद भी इन्तिखाब लडूंगा, तो जीत जाऊंगा : शत्रुघ्न सिन्हा

पटना : भाजपा एमपी शत्रुघ्न सिन्हा ने पीर को कहा कि अगर मैं आज़ाद भी इन्तिखाब लड़ता हूं, तो जीत सकता हूं। साथ ही उन्होंने कुबूल किया कि उन्हें लंबे वक़्त से दीगर पार्टियों से परपोजल मिलते रहे हैं।

बिहार के हालिया इन्तिखाब में भाजपा की तरफ से दरकिनार रखे गये पटना साहिब से एमपी ने यह भी कहा कि मैंने अपना ख्याल उस वक्त दिया, जब कभी वज़ीरे आज़म या पार्टी ने कुछ अच्छी या बुरी चीजें कीं और मैं कभी ‘नाराज’ नहीं रहा हूं। सिन्हा ने कहा, चूंकि मैं सियासत में एक अच्छा आदमी हूं, इसलिए मुझे सालों से दीगर पार्टियों से परपोजल मिलते रहे हैं। यही वजह है कि मैं कहता रहा हूं कि मुझे कोई मसला नहीं है।
उन्हाेंने कहा, मैं रिकाॅर्ड वोटों से जीतता रहा हूं। यहां तक कि आज़ाद इन्तिखाब लड़ने पर भी मसला नहीं होगी, क्योंकि काफी लोग मुझे हिमायत करेंगे। सिन्हा ने 2. 64 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से 2014 का लोकसभा इन्तिखाब जीता था।

उन्होंने कहा, मैं दीवार पर लिखी इबारत को देख सकता हूं। मैंने यह कोशिश की कि हर कोई टि्वटर समेत मुख्तलिफ ज़रिये से समझे। मैंने यह भी सुना कि वे लोग मुझे पार्टी से हटा सकते हैं। मैंने कहा कि कोई मसला नहीं है आप कर सकते हैं, क्योंकि आप फैसला लेनेवाली यूनिट में हैं, लेकिन उन्होंने मुझे नहीं हटाया।

उन्होंने कहा, सियासत में मैं किसी का तारीफ नहीं कर सकता। जब वज़ीरे आज़म और पार्टी ने अच्छा काम किया, मैंने यह कहा और जब मुझे नहीं लगा कि यह अच्छा है, तब मैंने अपना ख्याल दिया।

उन्होंने यह भी कहा कि मैं कभी नाराज नहीं रहा, जैसा कि मीडिया ने दावा किया। मैं हमेशा ही पुरअमन रहा। मैं अपने ईमानदारी से समझौता नहीं करूंगा। मैंने कोई पार्टी मुखालिफत या कौमी मुखालिफत काम नहीं किया है। मैं ऐसा कभी नहीं करूंगा। मैं पार्टी की गरिमा को समझता हूं। मुझे नहीं लगता कि वे लोग मुझे हटायेंगे।

गौरतलब है कि कभी भाजपा के स्टार तश्हीर रहे सिन्हा को भाजपा कियादत ने बिहार के हालिया एसेम्बली इन्तिखाब के तश्हीर काम में नजरअंदाज किया और इस इन्तिखाब में पार्टी ने खराब मुजाहिरा किया।

बिहार में भाजपा ने जिस तरह से इन्तिखाब तश्हीर किया उसे लेकर उन्होंने पार्टी की तनक़ीद की और यहां तक कि अज़ीम इत्तिहाद की जीत को ज़म्हुरियत की जीत बताया।

 

TOPPOPULARRECENT