Wednesday , October 18 2017
Home / Uttar Pradesh / इंजीनियरिंग-मेडिकल में कामयाब, इंटर में फेल

इंजीनियरिंग-मेडिकल में कामयाब, इंटर में फेल

इंजीनियरिंग-मेडिकल इम्तिहान में कामयाब तकरीबन 150 तालिबे इल्म इस साल इंटर में पास नहीं हो सके हैं। मेडिकल-इंजीनियरिंग इम्तिहान में कामयाब तकरीबन 238 तालिबे इल्म ने स्पेशल स्क्रूटनी के लिए दरख्वास्त जमा किया था। तालिबे इल्म अपने मा

इंजीनियरिंग-मेडिकल इम्तिहान में कामयाब तकरीबन 150 तालिबे इल्म इस साल इंटर में पास नहीं हो सके हैं। मेडिकल-इंजीनियरिंग इम्तिहान में कामयाब तकरीबन 238 तालिबे इल्म ने स्पेशल स्क्रूटनी के लिए दरख्वास्त जमा किया था। तालिबे इल्म अपने मार्क्स से खुश नहीं थे। स्पेशल स्क्रूटनी के बाद भी 150 तालिबे इल्म पास नहीं हो सके। ज़्यादातर तालिबे इल्म के मार्क्स में कोई तबदीली नहीं हुआ। कुछ तालिबे इल्म के पॉइंट्स में एक से दो पॉइंट्स की ही इजाफा हुई। झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने मेडिकल-इंजीनियरिंग में पास तालिबे इल्म के लिए स्पेशल स्क्रूटनी की इंतेजाम की थी। जैक ने स्पेशल स्क्रूटनी का रिजल्ट भी जारी कर दिया गया है।

दो ही तालिबे इल्म हुए पास

स्पेशल स्क्रूटनी में दरख्वास्त जमा करने वाले तालिबे इल्म में से महज़ दो तालिबे इल्म ही पास हुए। 35 इम्तिहान देहिंदगान के मार्क्स में मामूली इजाफा हुई। पॉइंट्स में हुई इजाफा इतनी नहीं थी कि इम्तिहान देहिंदगान पास कर सके। ज़्यादातर इम्तिहान देहिंदगान के मर्स्क में एक से दो पॉइंट्स की इजाफा हुई. इससे उनके रिजल्ट पर कोई असर नहीं पड़ा।

ज़्यादा से ज़्यादा आठ पॉइंट्स बढ़े

दरख्वास्त जमा करने वाले इम्तिहान देहिंदगान में से तकरीबन आधा दर्जन तालिबे इल्म के मार्क्स में ज़्यादा से ज़्यादा आठ पॉइंट्स तक की इजाफा हुई। पॉइंट्स का टोटल ठीक से नहीं होने के वजह से तालिबे इल्म के मार्क्स कम हो गये थे। इस साल स्पेशल स्क्रूटनी के लिए सबसे ज़्यादा दरख्वास्त मैथ्स के लिए किये गये।

TOPPOPULARRECENT