Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / इंजीनीयरिंग कॉलेजेस की फीस एक लाख तक पहुंच जाने का इमकान

इंजीनीयरिंग कॉलेजेस की फीस एक लाख तक पहुंच जाने का इमकान

हर इंजीनीयरिंग कॉलेज के लिये फीस के तअय्युन से मुताल्लिक़ सिफ़ारिशात हुकूमत को पेश करदी गई हैं जिस में बाअज़ कॉलेजेस के लिये सब से ज़्यादा फीस एक लाख रुपये तक होगी । एक सेनएर ओहदेदार ने कहा कि हम ने हुकूमत को सिफ़ारिशात पेश करदी ह

हर इंजीनीयरिंग कॉलेज के लिये फीस के तअय्युन से मुताल्लिक़ सिफ़ारिशात हुकूमत को पेश करदी गई हैं जिस में बाअज़ कॉलेजेस के लिये सब से ज़्यादा फीस एक लाख रुपये तक होगी । एक सेनएर ओहदेदार ने कहा कि हम ने हुकूमत को सिफ़ारिशात पेश करदी हैं और हुकूमत को इस सिलसिला में क़तई फैसला करना है ।

इस तरह तवक़्क़ो है कि तलबा 27 अगस्त से क़बल हर कॉलेज की फीस के बारे में मालूमात हासिल करें ताकि वो फीस को ज़हन में रखते हुए ऑप्शन्स का इंतिख़ाब(चुनाव)कर सकें । सुप्रीम कोर्ट से रुजू होने वाले 133 कॉलेजेस में चंद कॉलेजेस की फीस इमकानहै कि 75000 रुपये और एक लाख रुपये के दरमियान होगी ।

और उन 133 कॉलेजेस में अक्सर कॉलेजेस में फीस 50,000 और 75,000 रुपये के दरमियान होगी । ताहम तलबाको फ़िक्रमंद होने की ज़रूरत नहीं है । क्यों कि जैसे वो आगे की क्लासेस में जाएंगे फीस में काबुल लिहाज़ कमी होगी क्यों कि बोझ को कम करने में फ्रेशर्स को हिस्सा अदा करना होगा ।

इस का मतलब ये है कि इन कॉलेजेस में फीस तलबा के दूसरे साल में पहुंचने पर तक़रीबा निस्फ़ होजाएगी और तीसरे और आख़िरी साल में फीस में मज़ीद कमी होगी । ओहदेदार इस बात पर तज़बज़ब का शिकार हैं कि आया उन कॉलेजेस के लिये भी 35,000 रुपये फीस की तौसीअ दी जाय

या उन्हें हलफनामा दाख़िल किये जाने तक री रीइम्ब्रेस्मेंट स्कीम से ख़ारिज रखा जाय ।।

TOPPOPULARRECENT