Wednesday , October 18 2017
Home / Hyderabad News / इंटरमीडीएट साल दुव्वम दूसरी ज़बानों के निसाब पर नज़र-ए-सानी

इंटरमीडीएट साल दुव्वम दूसरी ज़बानों के निसाब पर नज़र-ए-सानी

बोर्ड आफ़ इंटरमीडीएट एजूकेशन ने तमाम जूनियर कॉलेजों के प्रिंसिपल्स, लेक्चररस और तलबा-ए-को मतला किया है कि हिस्सा II इंटरमीडीएट साल दुव्वम बराए तालीमी साल 2014-15 के तेलुगु, हिन्दी, उर्दू, संस्कृत, अरबी और फ्रांसीस , दूसरी ज़बानों की निसाब

बोर्ड आफ़ इंटरमीडीएट एजूकेशन ने तमाम जूनियर कॉलेजों के प्रिंसिपल्स, लेक्चररस और तलबा-ए-को मतला किया है कि हिस्सा II इंटरमीडीएट साल दुव्वम बराए तालीमी साल 2014-15 के तेलुगु, हिन्दी, उर्दू, संस्कृत, अरबी और फ्रांसीस , दूसरी ज़बानों की निसाबी किताबों और निसाब पर नज़र-ए-सानी की गई है। इन मज़ामीन की नज़र-ए-सानी शूदा नई किताबें मार्किट में दस्तयाब हैं।

चुनांचे तमाम प्रिंसिपल्स , लेक्चररस और तलबा से ख़ाहिश की गई हैके वो नज़र-ए-सानी शूदा निसाब पर अमल करें । सेक्रेटरी बोर्ड आफ़ इंटरमीडीएट के दफ़्तर से जारी आलामीया के मुताबिक़ तेलुगु , हिन्दी , उर्दू , संस्कृत और अरबी का नज़र-ए-सानी शूदा निसाब और किताबों की तैयारी बोर्ड आफ़ इंटरमीडीएट की तरफ़ से की गई है। इन मज़ामीन के मॉडल कोइसचन पेपर्स मुताल्लिक़ा निसाबी किताबों में तबा किए गए हैं और बहुत जल्द बोर्ड आफ़ इंटरमीडीएट के वेबसाइट पर पेश किए जाऐंगे

TOPPOPULARRECENT