Saturday , March 25 2017
Home / Sports / इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स लेने के लिए कंपनियों की होड़

इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स लेने के लिए कंपनियों की होड़

मुंबई : इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स लेने के लिए डीबीएस बैंक, रिलायंस जियो, चाइनीज मोबाइल हैंडसेट मैन्युफैक्चरर विवो जैसे कई बैंकों और कंपनियों ने टेंडर भरा है। बीसीसीआई इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स अगले पांच सालों के लिए नीलाम कर रहा है। बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (बीसीसीआई) के सीईओ राहुल जोहरी ने हमारे सहयोगी इकनॉमिक टाइम्स से कहा, ‘इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स लेने के लिए हमें बीएफएसआई, ऑटो, ई-कॉमर्स, मोबाइल एंड टेलीकॉम और मीडिया एंड एंटरटेनमेंट सेक्टर से अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। ये सभी इंडस्ट्री इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स लेने की इच्छुक हैं।’

हालांकि जोहरी ने कंपनियों के नाम बताने से मना कर दिया। इंडस्ट्री सत्रों के मुताबिक पेटीएम और स्टॉर इंडिया ने भी इंडियन क्रिकेट टीम की स्पॉन्सरशिप लेने के लिए टेंडर डॉक्युमेंट फाइल किया है और ये दोनों कंपनियां भी टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स लेने के लिए बिडिंग करेंगी। डीबीएस बैंक के हेड ग्रुप स्ट्रैटेजिक और मार्केटिंग कम्युनिकेशन शेरन मेहरा ने कहा, ‘डीबीएस ग्रुप के लिए भारत अहम मार्केट है। भारत में बॉलीवुड और क्रिकेट दो बड़े चैलेंजिंग ब्रांड्स है, जिससे हर कोई जुड़ना चाहता है।’

डीबीएस बैंक ने पिछले साल सचिन तेंडुलकर को अपना ब्रांड ऐंबैसडर बनाया था और बैंक को लगता है कि यदि वह भारतीय क्रिकेट टीम की स्पॉन्सरशिप अगले पांच साल के लिए लेने में सफल होता है, तो उसे भारतीय मार्केट में अपनी पकड़ बनाने में मदद मिलेगी। मेहरा ने कहा, ‘सचिन तेंडुलकर को अपने साथ मिलाने और आईपीएल फ्रेंचाइजी राइजिंग पुणे सुपरजायंट (आरपीएस) के साथ जुड़ने से हमें भारत में अपने कस्टमर्स को बढ़ाने में मदद मिली है। अगर हमें इंडियन क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप राइट्स भी मिल जाते हैं मार्केट में हमारी स्थिति काफी मजबूत होगी।’

Top Stories

TOPPOPULARRECENT