Saturday , October 21 2017
Home / Khaas Khabar / इंडिया। अरब फ्रेंडशिप फ़ाउंडेशन का क़ियाम

इंडिया। अरब फ्रेंडशिप फ़ाउंडेशन का क़ियाम

साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने इंडिया। अरब फ्रेंडशिप फ़ाउंडेशन केलिए अपनी नेक ख़ाहिशात का इज़हार करते हुए कहा कि ये फ़ाउंडेशन हिंद। अरब ममालिक ताल्लुक़ात को मज़ीद मुस्तहकम करने में मुआविन साबित होगा।

साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह ने इंडिया। अरब फ्रेंडशिप फ़ाउंडेशन केलिए अपनी नेक ख़ाहिशात का इज़हार करते हुए कहा कि ये फ़ाउंडेशन हिंद। अरब ममालिक ताल्लुक़ात को मज़ीद मुस्तहकम करने में मुआविन साबित होगा।

वाज़ेह रहे कि सेक्रेटरी तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस जाबिर पटेल ने दिल्ली में मज़कूरा फ़ाउंडेशन का क़ियाम अमल में लाया, जिस के ज़ेर-ए-एहतिमाम मुनाक़िदा तक़रीब में साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह, नायब सदरनशीन राज्य सभा पी जी कोरियन, चीफ़ मिनिस्टर मेघालय मुकुल संगमा, गवर्नर उतराखंड अज़ीज़ क़ुरैशी, साबिक़ मर्कज़ी वुज़रा ई अहमद, रहमान ख़ान, अरकान-ए-पार्लीमेंट इसरार उल-हक़, मुहम्मद असलम, टी जितेन्द्र रेड्डी, पी गोवर्धन रेड्डी, मुरली मोहन राउ, वि हनुमंत राउ, डिप्टी फ़्लोर लीडर तेलंगाना कौंसल मुहम्मद अली शब्बीर, न्यूज़ ऐडीटर रोज़नामा सियासत जनाब आमिर अली ख़ां, कांग्रेस क़ाइदीन ख़लीक़ अलरहमान, अतीक़ अहमद सिद्दीक़ी, इसके अफ़ज़ल उद्दीन, मुहम्मद जावेद अहमद, इशफ़ाक़ हुसैन और दीगर ने शिरकत की।

मिस्टर पी जी कोरियन ने फ़ाउंडेशन के क़ियाम पर जाबिर पटेल को मुबारकबाद पेश करते हुए कहा कि हिंदुस्तान और अरब ममालिक के दरमयान बरसों से ख़ुशगवार ताल्लुक़ात हैं। उनकी रियासत केराला के हज़ारों अफ़राद अरब ममालिक में रोज़गार से जुड़े हुए हैं। इलावा अज़ीं हिंदुस्तान ने हमेशा फ़लस्तीन की ताईद की है। चीफ़ मिनिस्टर मेघालय मुकुल संगमा ने फ़ाउंडेशन के क़ियाम का ख़ैरमक़दम करते हुए आइन्दा इजलास मेघालय के शहर शीलाइंग में मुनाक़िद करने पर ज़ोर दिया और हुकूमत की जानिब से मुकम्मल तआवुन की पेशकश की।

दरीं असना अज़ीज़ क़ुरैशी ने कहा कि हिंदुस्तान के पहले वज़ीर-ए-आज़म जवाहर लाल नहरू ने अरब ममालिकसे ख़ुशगवार ताल्लुक़ात की बुनियाद रखी। ये इंडिया-अरब फ्रेंडशिप फ़ाउंडेशन नहरू के ख़ाबों की ताबीर साबित होगा। मिस्टर रहमान ख़ान ने कहा कि हिंदुस्तान और अरब ममालिक केताल्लुक़ात निस्फ़ सदी से हैं।

हर हफ़्ता हिंद और अरब ममालिक के दरमियान 800 हवाई जहाज़ परवाज़ करते हैं और दोनों के दरमयान ख़ुशगवार ट्रेडिंग पार्टनरशिप है, लिहाज़ा ये फ़ाउंडेशन इस ताल्लुक़ात को मज़ीद मुस्तहकम करने में मुआविन साबित होगा। मिस्टर ई अहमद ने इंडिया। अरब फ्रेंडशिप फ़ाउंडेशन के क़ियाम को तारीख़ी क़रार देते हुए कहा कि 7 मिलयन हिंदुस्तानी अरब ममालिक में बरसरे रोज़गार हैं।

TOPPOPULARRECENT