Wednesday , October 18 2017
Home / Delhi News / इंतिख़ाबी ज़ाब्ता अख‌लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी

इंतिख़ाबी ज़ाब्ता अख‌लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी

इलेक्शन कमीशन ने मुसलमानों को दिल्ली इंतिख़ाबात के दौरान आम आदमी पार्टी के हक़ में वोट देने की अपील पर मुबनी पम्प‌लेटस की तक़सीम से मुताल्लिक़ अरविंद केजरीवाल के बयान‌ को रद‌ कर दिया और कहा कि इससे इंतिख़ाबी ज़ाब्ता अख‌लाक़ की ख़िलाफ़व

इलेक्शन कमीशन ने मुसलमानों को दिल्ली इंतिख़ाबात के दौरान आम आदमी पार्टी के हक़ में वोट देने की अपील पर मुबनी पम्प‌लेटस की तक़सीम से मुताल्लिक़ अरविंद केजरीवाल के बयान‌ को रद‌ कर दिया और कहा कि इससे इंतिख़ाबी ज़ाब्ता अख‌लाक़ की ख़िलाफ़वर्ज़ी हुई है और उन्हें ख़बरदार किया कि मुस्तक़बिल में इंतिख़ाबी मुहिम के दौरान इस बारे में एहतियात इख्तियार करें।

इलेक्शन कमीशन ने दिल्ली के चीफ़ मिनिस्टर को हुक्म दिया कि इस वाक़िये में आप की जानिब से पेश करदा बयान‌, हालात और हक़ायक़ का मजमूई जायज़ा लिया गया है चुनांचे कमीशन इस वाक़िये पर तशवीश का इज़हार करता है और आप को ख़बरदार किया जाता है कि मुस्तक़बिल में अपनी जमात की इंतिख़ाबी मुहिम के दौरान मज़ीद एहतियात से काम लें।

कमीशन ने कहा कि (मुसलमानों से वोट मांगते हैं) तक़सीम किए गए पम्प्लेटस के ज़रिया इंतिख़ाबी ज़ाब्ता की ख़िलाफ़वर्ज़ी हुई है। केजरीवाल की तरफ़ से जारी करदा आम आदमी पार्टी के पम्प‌लेटस में शामिल चंद क़ाबिल एतराज़ हिस्सों का इलेक्शन कमीशन ने हवाला दिया है जिसके मुताबिक़ पम्पलेट में कहा गया था कि दिल्ली के मुसलमानों को चाहिए कि वो आने वाले इंतिख़ाबात में आम आदमी पार्टी का साथ दें।

ये भी कहा गया था कि हम (आम आदमी पार्टी) दौलत या इक़तिदार के लिए वोट नहीं मांग रहे हैं बल्कि रिश्वत सतानी के ख़ात्मा और रिश्वत से पाक हिंदुस्तान की तामीर के लिए तमाम मज़ाहिब से ताल्लुक़ रखने वाले अवाम से वोट मांग रहे हैं ताकि ये सब लोग पुरअमन ज़िंदगी गुज़ार सकें। पम्पलेट में बी जे पी को फ़िर्कापरस्त पार्टी क़रार दिया गया था।

इलेक्शन कमीशन ने इस काबिल एतराज़ फ़िक़रा का हवाला दिया कि ताहाल मुसलमानों के पास कोई मुतबादिल नहीं था लेकिन अब उनके पास आम आदमी पार्टी की शक्ल में एक दयानतदार मुतबादिल मौजूद है। हम दिल्ली के तमाम वोटर्स से अपील करते हैं कि वो पाक साफ़ सियासत के लिए हमारी कोशिशों की ताईद करें और इस फंदे में ना फंसें जिस में गुजिश्ता 65 साल से फंसते आरहे हैं।

TOPPOPULARRECENT