Saturday , September 23 2017
Home / India / इंतेख़ाबी मुफ़ाहमत के लिए करूणानिधि के बयान पर अन्ना डीएमके का तंज़

इंतेख़ाबी मुफ़ाहमत के लिए करूणानिधि के बयान पर अन्ना डीएमके का तंज़

चेन्नई: मुजव्वज़ा असेम्बली इंतेख़ाबात के लिए मुफ़ाहमत पर डीएमके सरबराह एम करूणानिधि के बयान को मज़हकाख़ेज़ क़रार देते हुए हुकमरान अन्ना डी ऐम के ने आज कहा है कि हरीफ़ जमात ने2011 से मुसलसल इंतिख़ाबी शिकस्त के बावजूद कोई सबक़ हासिल नहीं किया और फिर एकबार दीगर जमातों के साथ मुफ़ाहमत के साथ ख़ुदकुशी के रास्ता पुर गामज़न है।

अन्ना डी एम के तर्जुमान डाक्टर निमतो एमजी आर में तहरीर करदा एक मज़मून में कहा गया और साल 2011 के इंतेख़ाबात में डी एम के ने ज़िल्लत आमेज़ शिकस्त खाई और जिसे अपोज़िशन पार्टी का मौक़िफ़ भी हासिल नहीं हो सका बादमे मजालिस मुक़ामी के इंतेख़ाबात 2014 के लोक सभा इंतेख़ाबात में भी मुसलसल शिकस्त से दो-चार होते गई।

करूणानिधि के हालिया इस बयान पर कि अन्ना डीएमके के ख़िलाफ़ उनकी पार्टी की ज़ेरे क़ियादत ‘अज़ीम इत्तेहाद मे अगर कोई जमात शामिल होना चाहती है तो ख़ैर-मक़्दम किया जाएगा। हुकमरान जमात ने कहा अवाम हरगिज़ उन्हें वोट नहीं देंगे। बज़ाहिर करूणानिधि का ये इशारा विजय‌कांत की ज़ेरे क़ियादत DMDK की सिम्त था। जिन्हें इंतेख़ाबी मुफ़ाहमत की पेशकश की गई। अन्नाडी ऐम के तर्जुमान ने कहा कि डीएमके सरबराह का मुजव्वज़ा इंतेख़ाबात में फिर एकबार सफ़ाया हो जाएगी और अन्ना डी एम के दुबारा इक़्तेदार पर क़ाबिज़ हो जाएगी|

TOPPOPULARRECENT