Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / इंदिरा गांधी के 95 वीं यौम-ए-पैदाइश पर क़ौम का ख़िराज-ए-अक़ीदत

इंदिरा गांधी के 95 वीं यौम-ए-पैदाइश पर क़ौम का ख़िराज-ए-अक़ीदत

क़ौम ने आज साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म इंदिरा गांधी को उनके 95 वीं यौम-ए-पैदाइश पर ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश किया । आँजहानी क़ाइद को ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश करने की क़ियादत सदर जमहूरीया प्रणब‌ मुकर्जी ने की ।

क़ौम ने आज साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म इंदिरा गांधी को उनके 95 वीं यौम-ए-पैदाइश पर ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश किया । आँजहानी क़ाइद को ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश करने की क़ियादत सदर जमहूरीया प्रणब‌ मुकर्जी ने की ।

मुमताज़ शख़्सियतों में नायब सदर जमहूरीया मुहम्मद हामिद अंसारी भी शामिल थे । दोनों क़ाइदीन ने जमुना किनारे इंदिरा गांधी की यादगार शक्ति स्थल पर फूल मालाई चढ़ाई।

सदर नशीन यू पी ए सोनीया गांधी ,मर्कज़ी वुज़रा सुशील कुमार शिंदे और कमल नाथ ने भी शक्ति स्थल पहुंच कर ख़िराज-ए-अक़ीदत पेश क्या । इस मौके मुकर्जी,अंसारी और सोनीया ने तिरंगे गुब्बारे फ़िज़ा-ए-में छोड़े ।

इस मौक़ा पर हुब्ब-ए-वतनी के गीत और इंदिरा गांधी की तक़रीर के रिकार्ड बजाय जा रहे थे । इंदिरा गांधी 19 नवंबर 1917 को पैदा हुई थीं । वो हिंदूस्तान की अव्वलीन ख़ातून वज़ीर-ए-आज़म और सयासी एतबार से बाअसर नहरू ख़ानदान की वारिस थीं ।

TOPPOPULARRECENT