Friday , October 20 2017
Home / Crime / इंदौर में आबकारी आफीसर करोडों की प्रापर्टी का मालिक

इंदौर में आबकारी आफीसर करोडों की प्रापर्टी का मालिक

मध्य प्रदेश के इंदौर में पोस्ट किये गए आबकारी महकमा के डिप्टी कमिश्नर नवल सिंह जामोद के इंदौर व धार वाके रिहायशगाहो पर की गई छापेमारी में करो़डों रूपये की प्रापर्टी होने का खुलासा हुआ है। यह छापेमारी लोकायुक्त की तरफ से की गई है,

मध्य प्रदेश के इंदौर में पोस्ट किये गए आबकारी महकमा के डिप्टी कमिश्नर नवल सिंह जामोद के इंदौर व धार वाके रिहायशगाहो पर की गई छापेमारी में करो़डों रूपये की प्रापर्टी होने का खुलासा हुआ है। यह छापेमारी लोकायुक्त की तरफ से की गई है, जो अभी भी जारी है। इंदौर वाके लोकायुक्त पुलिस सुप्रीटेंडेंट के दफ्तर से मिली मालूमात के मुताबिक , जुमे की सुबह जामोद के इंदौर व धार के रिहायशगाह पर एक साथ दबिश दी गई। इंदौर के रिहायशगाह से 32 लाख रूपये नगद के साथ सोने चांदी की मूर्तियां व जेवरात मिले हैं।

पुलिस सुप्रीटेंडेंट दौलत सिंह गुर्जर ने बताया गया है कि छापेमारी के दौरान पता चला कि जामोद के पास इंदौर में छह हजार स्क्वायर फुट में मकान के इलावा यश गार्डन में एक फ्लैट, कुक्षी में 30 एकड जमीन भी है। लोकायुक्त दफ्तर के ज़राये के मुताबिक , जामोद के रिहायशगाह से उनके पास अलिराजपुर में गैस एजेंसी, पेट्रोल पंप और गोदाम होने से जु़डे भी दस्तावेज मिले हैं। जामोद की 1989 में आबकारी आफीसर के तौर पर तकर्रुरी हुई थी, जब उनकी तंख्वाह तकरीबन 20 हजार रूपये माह थी और अब 50 हजार रूपये माह है। लोकायुक्त ने आमदनी से ज़्यादा प्रापर्टी होने की शिकायत मिलने के बाद छापेमारी की है।

TOPPOPULARRECENT