Wednesday , October 18 2017
Home / Crime / इंसानी स्मगलिंग के केसों में सज़ा बढ़ाने पर ज़ोर

इंसानी स्मगलिंग के केसों में सज़ा बढ़ाने पर ज़ोर

वोज़ारत-ए-दाख़िला की एक आला ओहदादार का कहना है कि गैर कानूनी इंसानी मुंतक़ली करने वालों की ज़्यादा से ज़्यादा तादाद पकड़ी जा रही है , लेकिन इन में से मुजरिम क़रार दीए जाने वालों की तादाद मायूस कुन तौर पर मामूली है । वज़ारत उमूर दा

वोज़ारत-ए-दाख़िला की एक आला ओहदादार का कहना है कि गैर कानूनी इंसानी मुंतक़ली करने वालों की ज़्यादा से ज़्यादा तादाद पकड़ी जा रही है , लेकिन इन में से मुजरिम क़रार दीए जाने वालों की तादाद मायूस कुन तौर पर मामूली है । वज़ारत उमूर दाख़िला की एडीशनल सिक्रेट्री बी भामती ने आज यहां कहा कि ओहदेदार ख़ुद को तबदीली रूबाअमल लाने वाले अहम कारिंदे समझें और यक़ीनी बनाएं कि इंसानी स्मगलिंग के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार होने वाले ज़्यादा से ज़्यादा अफ़राद को कैफ़रे किरदार तक पहुंचाया जाय ।

वो यहां आंधरा प्रदेश पुलिस एकेडेमी में मुनाक़िदा एक प्रोग्राम में जुनूबी रियासतों के परासक्यूटिंग ऑफिसर्स से ख़िताब कररही थीं । एडीशनल सिक्रेट्री ने कहा कि मुल्क भर में मौजूदा तौर पर 225 एंटी ह्यूमन टराफ़ेकिंग यूनिट्स ज़िला सतह पर काम कर रहे हैं । इस मौक़ा पर उन्हों ने ये ऐलान भी किया कि मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला अनक़रीब उन्हें कैश एवार्ड्स पेश करेगी जो इंसिदाद इंसानी स्मगलिंग के शोबे में बरसर-ए-कार हैं ।

उन्हों ने कहा कि जैसे ही सिलेक्शन का अमल पूरा होजाए , दो रियासती हुकूमतों को 2 , 2 लाख रुपय का कैश एवार्ड , तीन इन्फ़िरादी ओहदे दारों कोफी कस 1.5 लाख रुपय जब कि स्मगलरों के ख़िलाफ़ मुहिम में पुलिस की इआनत करने वाली दो इन जी औज़ को भी वज़ीर दाख़िला पी चिदम़्बरम रवां साल 31 मार्च से क़बल इनाम पेश करेंगे । आंधरा प्रदेश डायरैक्टर जनरल आफ़ पुलिस वि दिनेश रेड्डी ने इस मौक़ा पर कहा कि ए पी पुलिस ने मुल्क में सब से पहले 2007 -ए-में एंटी ट्रैफिकिंग यूनिट क़ायम की ।

डी जी पी ने मज़ीद कहा कि गुज़श्ता पाँच साल में ए पी पुलिस ने गैर कानूनी इंसानी मुंतक़ली के 1,950 क़ैस्सेस का पता चलाया और 2,892 मुतासरीन को बचाते हुए 3,943 स्मगलरों को गिरफ़्तार किया । हम ने 170 स्मगलरों के ख़िलाफ़ 52 केसों में 4 ता 14 साल की सज़ा दही को यक़ीनी बनाया है ।

TOPPOPULARRECENT