Saturday , September 23 2017
Home / India / इजरायली राष्ट्रपति के भारत आने से देश की छवि दागदार हुई-मौलाना कल्बे जव्वाद

इजरायली राष्ट्रपति के भारत आने से देश की छवि दागदार हुई-मौलाना कल्बे जव्वाद

फैसल फरीद

लखनऊ:शिया समुदाय के धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने भारत में इजरायली राष्ट्रपति यूवेन रोलन के आगमन के खिलाफ अपने घर पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की एक बैठक आयोजित कर इजराएल के राष्ट्रपति का विरोध किया। जव्वाद के अनुसार हमारे देश मैं इजरायली राष्ट्रपति के आने से देष की मानवता दोस्त छवि दागदार हुई है।

इससे पहले भी जव्वाद कई बार लखनऊ में इजराइल के खिलाफ प्रदर्शन कर चुके हैं। जव्वाद ने कहा कि हमारा देश पूरी दुनिया में शांति और मजलूमों के समर्थन के आधार पर अपनी अनूठी पहचान रखता है, इसलिए ऐसे देश से संबंध रखना जो फिलिस्तीनियों के मजलूमों का हत्यारा है हमारे देश की अम्न पसंद छवि का दागदार करता है।

जव्वाद लखनऊ में शियों की सबसे बड़ी आसफी मस्जिद के इमाम-ए-जुमा हैं और शिया समुदाय में खासा प्रभाव रखते हैं. जव्वाद ने नाइजीरिया में शियों पर पुलिस की कार्यवाही, कर्बला में हुए हमलों और पाकिस्तान में दरगाह शाह नूरानी पर हुए हमले की भी निंदा की.

जव्वाद ने आरोप लगाया कि नाइजीरिया में सऊदी अरब की आर्थिक मदद से शियों पर जो अत्याचार हो रहा वह निंदनीय है। नाईजीरिया में शियों का नरसंहार जारी है और उलेमा पर भी अत्याचार किया जा रहा है लेकिन इसके बावजूद संयुक्त राष्ट्र और मानवाधिकार संगठन मूकदर्शक बने हुयें हैं। यह निंदनीय है।

मौलाना ने कहा कि अब तक अयातुल्ला जकजाकी को रिहा नहीं किया गया है और अन्य शिया उलेमा का भी उत्पीडन जारी है। अफसोस है कि नाइजीरिया में मानवता के नरसंहार पर दुनिया चुप है। जव्वाद ने कहा कि करबला में अकीदतमंदों और पवित्र इमारतों को आतंकवादी निशाना बना रहे हैं। पाकिस्तान में मजलिसों पर हमले हो रहे हैं ,सुफियों की दरगाह शाह नूरानी पर आई0एस0 के आतंकवादी हमले में दर्जनों लोगें मारे गए हैं लेकिन पाकिस्तानी सरकार आतंकवाद की समाप्ति के लिए ठौस कदम नहीं उठा रही है। यही कारण है कि अब पाकिस्तान में शियों के साथ साथ आम मुसलमानों को भी मारा जा रहा है। सूत्रों के अनुसार अगले जुमे को नमाज़ के बाद इस सम्बन्ध में शियों द्वारा लखनऊ में प्रदर्शन भी किया जा सकता हैं।

TOPPOPULARRECENT