Tuesday , October 24 2017
Home / India / इन्क़िलाब पार्टी आफ़ इंडिया की जागो अपना हक़ मांगो तहरीक

इन्क़िलाब पार्टी आफ़ इंडिया की जागो अपना हक़ मांगो तहरीक

लखनऊ, 25 मई ( प्रेस रीलीज़) इन्क़िलाब पार्टी आफ़ इंडिया के क़ौमी सदर जनाब मुहम्मद इक़बाल ने वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह और सदर नशीन यू पी ए मोहतरमा सोनीया गांधी से सवाल किया है कि फ़िर्कावाराना फ़सादाद की ग़ैर जांबदाराना जांच करवाकर मुजर

लखनऊ, 25 मई ( प्रेस रीलीज़) इन्क़िलाब पार्टी आफ़ इंडिया के क़ौमी सदर जनाब मुहम्मद इक़बाल ने वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह और सदर नशीन यू पी ए मोहतरमा सोनीया गांधी से सवाल किया है कि फ़िर्कावाराना फ़सादाद की ग़ैर जांबदाराना जांच करवाकर मुजरिम फ़िर्कापरस्त अनासिर को सज़ा दिलाकर फ़सादाद में तबाह-ओ-बर्बाद मुस्लिम फ़िर्क़ा को मुअज़्ज़िज़ सिक्ख फ़िर्क़ा की तरह माली इम्दाद दिलाने के साथ ही तबाह किए गए मुस्लिम मज़हबी मुक़ामात की मरम्मत क्यों नहीं कराई गई ? ।

जनाब मुहम्मद इक़बाल ने वज़ीर-ए-आज़म और मोहतरमा सोनीया गांधी से पूछा है कि 1947 में मुल्क की तक़सीम के बाद जो फ़िर्कापरस्ती का नंगा नाच किया गया इसमें अक्लीयतों के साथ अक्सरीयती फ़िर्क़ा के बेक़सूर अवाम भी फ़िर्कापरस्ती की भेंट चढ़ गए ।

काफ़ी इमलाक तबाह हुई वाज़िह रहे कि इस मुल्क में वही मुसलमान रहे जो तक़सीम के ख़िलाफ़ थे जिन्हें इस मुल्क की मिट्टी से प्यार था और जिन्हें मुल्क की तक़सीम किसी भी सूरत कुबूल नहीं थी । इसीलिए ये वतन परस्त मुसलमान पाकिस्तान नहीं गए लेकिन इन वतन परस्त मुसलमानों को मंसूबा बंद तरीक़े से फ़िर्कापरस्त ताक़तों के ज़रीया तबाह-ओ-बर्बाद करने के साथ ही मुसलमानों के मज़हबी मुक़ामात को तबाह किया गया है ।

आज़ादी के बाद मुल्क में फ़िर्कापरस्त ताक़तों के ज़रीया भयानक फ़सादाद कराए गए जो आज भी जारी हैं । आज़ादी के 65 साल में सभी छोटे बड़े फ़सादाद की तादाद तक़रीबन 70हज़ार से भी ज़्यादा है । इन में गुजरात में मुसलमानों का जो भयानक क़त्ल-ए-आम फ़िर्कापरस्त ताक़तों के ज़रीया किया गया है इससे पूरे मुल्क का सर शर्म झुक गया है आज भी मुस्लिम फ़साद ज़दगान के ज़ख़्म हरे हैं ।

TOPPOPULARRECENT