Thursday , October 19 2017
Home / World / इरानी नज़ाद शहरी की सज़ाए मौत पर तामील ना करने कैनेडा की दरख़ास्त

इरानी नज़ाद शहरी की सज़ाए मौत पर तामील ना करने कैनेडा की दरख़ास्त

कैनेडा के वज़ीर-ए-ख़ारजा ने ईरान पर ज़ोर दिया है कि वो इरानी नज़ाद कैनेडियन शहरी हामिद ग़ासमी शाल को जासूसी के इल्ज़ाम में दी गई सज़ाए मौत पर अमल दर आमद फ़ौरी तौर पर रोक दे और इस की फ़ौरी रिहाई का मुतालिबा किया है।वज़ीर-ए-ख़ारजा जोहन बेयर्ड का

कैनेडा के वज़ीर-ए-ख़ारजा ने ईरान पर ज़ोर दिया है कि वो इरानी नज़ाद कैनेडियन शहरी हामिद ग़ासमी शाल को जासूसी के इल्ज़ाम में दी गई सज़ाए मौत पर अमल दर आमद फ़ौरी तौर पर रोक दे और इस की फ़ौरी रिहाई का मुतालिबा किया है।वज़ीर-ए-ख़ारजा जोहन बेयर्ड का एक ब्यान में कहना था कि कैनेडा को मिलने वाले इशारों पर गहिरी तशवीश है कि मिस्टर गासमी शाल को फ़ौरी बुनियादों पर सज़ाए मौत दी जा रही है। उन्हों ने कहा कि कैनेडा इस्लामी जमहूरीया ईरान की हुकूमत से फ़ौरी अपील करता है कि वो गा सैमी शाल को इंसानी हमदर्दी की बुनियादों पर माफ़ी दे ।

उन के बाक़ौल हम ईरान से मुतालिबा करते हैं कि वो फांसी देने के अपने मौजूदा तरीका-ए-कार को ख़तम करे ।2साला हामिद गासमी शाल को तेहरान में गिरफ़्तार किया गया था और 2009 में उसे सज़ाए मौत सुनाई गई थी , इस के हामीयों का कहना है कि वो अपनी अलील वालिदा से मिलने के लिए तेहरान आया था । 1979 में इस्लामी इन्क़िलाब के बाद से वो कैनेडा हिज्रत कर गया था और इस के बाद से ज़्यादातर टोरंटो में ही मुक़ीम रहा है ताहम ईरान इस के दोहरी शहरीयत को तस्लीम नहीं करता ।

TOPPOPULARRECENT