Tuesday , October 17 2017
Home / India / इरान में सरमायाकारी पर कंपनी मुफ़ादात का तहफ़्फ़ुज़

इरान में सरमायाकारी पर कंपनी मुफ़ादात का तहफ़्फ़ुज़

नई दिल्ली अमरीकी तहदेदात के असर से बचाने का इद्दिआ : धर्मेन्द्र प्रधान

नई दिल्ली

अमरीकी तहदेदात के असर से बचाने का इद्दिआ : धर्मेन्द्र प्रधान

अमरीका अगर हिन्दुस्तानी कंपनियों पर इरान में सरमायाकारी की वजह से तहदेदात आइद करता है तो हिन्दुस्तान इन कंपनियों के मआशी मुफ़ादात का तहफ़्फ़ुज़ करेगा। वज़ीर पेट्रोलीयम धर्मेन्द्र प्रधान ने ये बात कही। वाज़िह रहे कि अमरीका ने ओ एन जी सी इंडियन आ:यल कारपोरेशन और ऑयल इंडिया लिमेटेड के अलावा दो चीनी कंपनियों के नाम इरान के साथ ताल्लुक़ात की पादाश में इस फ़हरिस्त में शामिल करलिए हैं।

एसा करने से इन कंपनियों के ख़िलाफ़ मआशी तहदेदात आइद होंगी। धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि हिन्दुस्तान अपना ख़ुद का मौक़िफ़ इख़तियार करेगा जो इस मसले पर आज़ादाना सिफ़ारती मौक़िफ़ होगा। उन्होंने कहा कि यक़ीनी तौर पर इन कंपनियों और मुल्क के मआशी मुफ़ादात के तहफ़्फ़ुज़ को अव्वलीन तरजीह रहेगी।

उन्होंने ताहम उस की मज़ीद तफ़सील बताने से इनकार करदिया और कहा कि इस तरह के मसाइल पर बरसर-ए-आम तबादला ख़्याल नहीं किया जा सकता। अमरीका इरान तहदेदात क़ानून उन अफ़राद बिशमोल बैरूनी कंपनियों के ख़िलाफ़ इक़दामात की गुंजाइश फ़राहम करता है जो इरान में 20 मिलियन डॉलर्स से ज़्यादा की सरमाया कारी करते हैं।

अमरीका के इदारा का कहना है कि हुकूमत ने 1998 से इरान के साथ महिकमा तवानाई ताल्लुक़ात रखने वाली कंपनियों के ख़िलाफ़ किसी तरह की तहदेदात आइद नहीं की हैं। अमरीका और इस के हलीफ़ ममालिक इरान पर न्यूक्लियर हथियार की तय्यारी का इल्ज़ाम आइद करते हुए मआशी तहदेदात आइद करचुके हैं।

TOPPOPULARRECENT