Saturday , October 21 2017
Home / India / इराक़ में फंसे पंजाबियों की वापसी का मसला

इराक़ में फंसे पंजाबियों की वापसी का मसला

तमाम अख़राजात बर्दाश्त करने प्रकाश सिंह बादल हुकूमत का फैसला

तमाम अख़राजात बर्दाश्त करने प्रकाश सिंह बादल हुकूमत का फैसला

पंजाब के चूँकि 200 से ज़ाइद अफ़राद जंग से मुतास्सिरा मुल्क इराक़ में फंसे हुए हैं रियासती हुकूमत ने फैसला किया है कि इन तमाम को बहिफ़ाज़त वतन वापिस लाने के अख़राजात बर्दाश्त किए जाएंगे। चीफ मिनिस्टर प्रकाश सिंह बादल ने फैसला किया है कि रियासती हुकूमत मुतास्सिरा ख़ानदानों की जानिब से इराक़ में अपने अज़ीज़ों की मालमवात हासिल करने के लिए किए गए फ़ोन कॉल्स के अख़राजात भी अदा करेगी।

एक सरकारी तर्जुमान ने ये बात बताई। तर्जुमान ने कहा कि रियासती हुकूमत इराक़ में फंसे हुए पंजाबी बाशिंदों को वापिस लाने के तमाम अख़राजात अदा करेगी। चीफ मिनिस्टर बादल ने इस मसले पर विज़ारत-ए‍-ख़ारिजा को भी वाक़िफ़ करवा दिया है और पंजाबी अफ़राद की बहिफ़ाज़त और फ़ौरी वापसी को यक़ीनी बनाने इक़दामात किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि चीफ मिनिस्टर इस हक़ीक़त से वाक़िफ़ हैं कि अपने रिश्तेदारों की ख़ैरियत मालूम करने के लिए मुसलसल इंटरनेशनल कॉल्स मुतास्सिरा ख़ानदानों की जानिब से किए जा रहे हैं। एसे में चीफ मिनिस्टर ने फैसला किया है कि रियासती हुकूमत फ़ोन कॉल्स पर होने वाले तमाम अख़राजात मुतास्सिरा ख़ानदानों को वापिस करेगी। तर्जुमान के बमूजब चीफ मिनिस्टर बादल इस मसले विज़ारत-ए‍-ख़ारिजा के साथ मुसलसल रब्त में हैं।

TOPPOPULARRECENT