Tuesday , October 17 2017
Home / District News / इलाके दक्कन में उर्दू ज़बान को तरक़्क़ी से नहीं रोका जा सकता

इलाके दक्कन में उर्दू ज़बान को तरक़्क़ी से नहीं रोका जा सकता

डॉक्टर एस इमतियाज़ अहमद करसपांडेंट नेशनल डिग्री कॉलेज नंदियाल के हाथों माहनामा बज़म आईना करनूल की रस्म इजरा अमल में आई।

डॉक्टर एस इमतियाज़ अहमद करसपांडेंट नेशनल डिग्री कॉलेज नंदियाल के हाथों माहनामा बज़म आईना करनूल की रस्म इजरा अमल में आई।

ये प्रोग्राम डॉक्टर हक़ एडेड यू पी स्कूल में मुनाक़िद हुआ। इस प्रोग्राम में बज़म उर्दू के सदर फ़ारूक़ पाशाह बतौर मेहमान एज़ाज़ी शरीक रहे।

रस्म इजरा के बाद महबान उर्दू से ख़िताब करते हुए डॉक्टर एस इमतियाज़ अहमद ने बताया कि आज उर्दू ज़बान को ख़त्म करने के लिए बेहद कोशिशें-ओ-काविशें और मंसूबे अमल में आरहे हैं।

लेकिन उर्दू को ख़त्म नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि इलाक़ा दक्कन खास्कर हैदराबाद में उर्दू ज़बान का इतना बोल बाला है कि सदीयां बित जाने के बाद भी उर्दू ख़त्म नहीं हुई।

इस मौके पर डॉक्टर एस इमतियाज़ अहमद ने माहनामा बज़म आईना की सताइश करते हुए कहा कि हलक़ा रायलसीमा से पाबंदी से शाय होने वाला यही एक उर्दू रिसाला है जो हमारे इलाक़े में उर्दू ज़बान की बक़ा के लिए बेहद कोशिश कररहा है।

उन्होंने कहा कि वो बख़ूबी जानते हैंके रिसाले और रोज़नामा चलाना बहुत बड़ी बात होती है। उन्होंने माहनामा के मुदीर सय्यद क़ुदरत उल्लाह कादरी और तमाम अराकीन को बज़म आईना के लिए आई एस एस एन नंबर की हुसोली पर दिली मुबारकबाद पेश की।

TOPPOPULARRECENT