Wednesday , September 27 2017
Home / Uttar Pradesh / इलाहाबाद: राष्ट्रीय गान विवाद के बाद प्रशासन ने स्कूल पर लगाया ताला

इलाहाबाद: राष्ट्रीय गान विवाद के बाद प्रशासन ने स्कूल पर लगाया ताला

इलाहाबाद: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में स्कूल में राष्ट्रीय गान के गाने को लेकर विवाद के बाद प्रशासन ने स्कूल पर ताला लगा दिया है . प्रशासन का कहना है कि स्कूल अनुमति के बिना ही चल रहा था, इसलिए उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है। गौरतलब है कि इलाहाबाद में एम ए कॉन्वेंट स्कूल की प्रिंसिपल समेत आठ अध्यापकों ने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया था कि प्रशासन स्कूल में राष्ट्रीय गीत जन गण मन गाने की अनुमति नहीं दे रहा है।

इस्तीफा देने वाले अध्यापकों का कहना है कि राष्ट्रीय गीत उन्हें संविधान से दिया गया मौलिक अधिकार है, लेकिन स्कूल प्रशासन ने जब उन्हें इस गाने पर आपत्ति जताई, तो उन्होंने स्कूल छोड़ दिया है। अध्यापकों का कहना है कि 15 अगस्त को स्कूल में एक कार्यक्रम होना था। हम लोगों ने कहा कि राष्ट्रीय गान होना है, जिस पर प्रशासन ने कहा कि राष्ट्रीय गान आज तक हमारे यहां नहीं हुआ और इस बार भी नहीं होगा।

वहीं स्कूल के प्रबंधक जिया उल हक की दलील है कि राष्ट्रीय की एक लाइन पर उन्हें गहरा आपत्ति है जिसकी वजह से वह स्कूल में राष्ट्रीय गान नहीं गाने दे सकते हैं। प्रबंधक के अनुसार राष्ट्रीय गान में भारत किस्मत विधाता का गान करना उनके अनुसार इस्लाम के खिलाफ है क्योंकि अल्लाह के सिवा और कोई उनका किस्मत विधाता नहीं हो सकता है।

उधर स्कूल प्रबंधक ज़ियाउल हक़ का कहना है कि राष्ट्रीय गान जन गण मन में एक लाइन है भारत भाग्य विधाता। भारत भाग्य विधाता मतलब यहां के लोगों के भाग्य निर्माता भारत है और जब इसे मुस्लिम छात्र गाएंगे तो यह गलत होगा, क्योंकि मुसलमान धर्म के अनुसार अल्लाह हमारे भाग्य लिखने वाला है और वही भारत के भी भाग्य का लिखने वाला है। इस्लाम में केवल एक ईश्वर के अलावा किसी की भी हम पूजा नहीं कर सकते। पूजा करेंगे तो हम मुसलमान नहीं रहेंगे।

TOPPOPULARRECENT