Sunday , September 24 2017
Home / India / इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अखलाक के परिवार के सदस्यों की गिरफ्तारी पर लगायी रोक

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अखलाक के परिवार के सदस्यों की गिरफ्तारी पर लगायी रोक

लखनऊ, 26 अगस्त: इलाहाबाद हाई कोर्ट ने मोहम्मद अखलाक के परिवार के छह सदस्यों की गिरफ्तारी पर शुक्रवार को रोक लगा दी। जस्टिस रमेश सिन्हा की अध्यक्षता वाली दो जजों की पीठ ने गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए यूपी सरकार से जवाब मांगा है। हालांकि अखलाक के भाई जान मोहम्मद की गिरफ्तारी पर रोक नहीं लगाई है।जिन लोगों की गिरफ्तारी पर रोक लगी है, उनमें अखलाक की पत्नी इकरामान तथा मां असगरी शामिल हैं।

मई में फॉरेंसिक की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि अखलाक के घर में बना मांस गाय के बछड़े का था, जिसके बाद अखलाक के परिवार के सात सदस्यों के खिलाफ याचिका दायर की गई थी | याचिका में आरोप लगाया गया था कि परिवार के पिछले साल सितंबर में एक बछड़े को मार डाला था, और कहा कि जान मोहम्मद जानवर का गला काटते देखा गया था |लेकिन परिवार वालों का कहना था कि उन्हें इस मामले में झूठा फंसाया जा रहा है |

ग्रेटर नोएडा की एक अदालत ने 14 जुलाई को अखलाक के परिवार के सदस्यों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया था. बिसाहड़ा गांव के एक निवासी की याचिका पर सुनवाई के बाद मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विजय कुमार ने पुलिस से पूरे मामले की जांच करने को कहा था.
गौरतलब है की उत्तर प्रदेश के दादरी गाँव के बिसहाडा गाँव में पिछले साल सितंबर में कथित तौर पर गाय की हत्या करने गौमांस घर में रखने  की अफ़वाह में  52 वर्षीय अखलाक मोहम्मद को पीट-पीटकर मार डाला और उसके बेटे दानिश को घायल कर दिया. इस मामले में 19 लोगों को आरोपी बनाया गया है.

TOPPOPULARRECENT