Sunday , August 20 2017
Home / Khaas Khabar / इसराइल ने फ़लस्तीन में 800 मुतनाज़ा मकानात की मंज़ूरी देदी

इसराइल ने फ़लस्तीन में 800 मुतनाज़ा मकानात की मंज़ूरी देदी

फ़लस्तीनी अथॉरीटी की जानिब से हसब-ए-मामूल बरहमी का इज़हार, फ़ैसला वापिस लिया जाये : सेक्रेटरी जनरल अक़वाम-ए-मुत्तहिदा बांकी मौन
मक़बूज़ा बैत-उल-मुक़द्दस: इसराइली वज़ीर-ए-आज़म ने मक़बूज़ा मग़रिबी किनारे और बैत-उल-मुक़द्दस में मजमूई तौर पर आठ सौ मकानात की फ़ौरी तामीर की मंज़ूरी दे दी है। इन में से तीन सौ मकानात ग़र्ब अरदन के वसती शहर रामुल्लाह एक‌ कॉलोनी में तामीर किए जाऐंगे जब कि बाक़ी पाँच सौ मकानात मशरिक़ी बैत-उल-मुक़द्दस में तामीर करने का फ़ैसला किया गया है मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक़ इसराइली काबीना की जानिब से मग़रिबी किनारे की यहूदी बस्ती में तीन सौ मकानात की तामीर इसराइली सुप्रीम कोर्ट के एक फ़ैसले के रद्द-ए-अमल में की जा रही है। चहारशंबे को सुप्रीम कोर्ट ने इस कॉलोनी में दो मकानात को गै़रक़ानूनी क़रार दे कर उन्हें मिस्मार करने का हुक्म दिया था। हुकूमत ने दो मकानात को मिस्मार करने का फ़ैसला बादल नख़्वास्ता क़बूल किया मगर साथ ही तीन सौ मकानात की तामीर का एलान भी कर दिया गया है। बैतुल में मकानात मसमारी के अदालती हुक्म के बाद फ़ौज ने कार्रवाई कर के मकानात मसमारी करने की कोशिश की तो यहूदी आबाद कारों और पुलिस के दरमियान तसादुम भी हुआ है।

इसराइली सुप्रीम कोर्ट ने पिछले माह अपने एक फ़ैसले में दो मकानात को फ़लस्तीनीयों की अराज़ी पर बनाए जाने की वजह से 30 जुलाई तक मिस्मार करने का हुक्म दिया था। अराज़ी के फ़लस्तीनी मालिक अबदुर्रहमान क़ासिम ने बताया कि मैंने बैत उल में अपनी अराज़ी पर बनाए मकानात की मसमारी की कार्रवाई को ख़ुद देखा। मुझे आज ख़ुशी है कि मैंने खोया हुआ हक़ हासिल कर लिया है। ये मेरी फ़तह है और ये बारिश का पहला क़तरा है। उस वक़्त फ़लस्तीन के चप्पे चप्पे पर बनी यहूदी कॉलोनियां फ़लस्तीनीयों से छीनी गई अराज़ी पर तामीर की गई हैं।

उधर इसराइली वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर से जारी होने वाले एक बयान में कहा गया है कि मशरिक़ी यरूशलम और ग़र्ब अरदन में मकानात की तामीर का ऐलान अवाम के साथ किए गए वादों की पासदारी है। हुकूमत ने इन मकानात की तामीर का एलान तीन साल क़बल किया था मगर उन की तामीर की मंज़ूरी नहीं दी गई थी। बयान में कहा गया है की मशरिक़ी बैत-उल-मुक़द्दस में पाँच सौ मकानात बसग़ात ज़ईओ, रोमोत, ग़ीलो और हार हूमा समेत मुतअद्दिद दीगर कालोनीयों में बनाए जाऐंगे।

वाज़िह रहे कि उस वक़्त ग़र्ब अरदन में गै़रक़ानूनी तौर पर बनाई गई कालोनियों में चार लाख यहूदी जब कि बैतुल में दो लाख यहूदी रिहायश पज़ीर हैं। इसराइल की जानिब से मक़बूज़ा फ़लस्तीनी इलाक़ों में मकानात की तामीर के एलान पर फ़लस्तीनी अथार्टी ने हसब-ए-मामूल सख़्त बरहमी का इज़हार किया है। तंज़ीम आज़ादी फ़लस्तीन की एग्ज़िक्युटिव कमेटी की रुकन हन्नान अशरावी ने मकानात की तामीर के इसराइली एलान को सहयोनी रियासत की जुनूबी तौसी पसंदाना जारहीयत क़रार दिया। इत्तेलात के मुताबिक़ अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के सेक्रेटरी जनरल बाण की मौन ने भी इसराइली हुकूमत के तौसी पसंदाना इक़दाम की सख़्त मज़म्मत करते हुए फ़ैसला वापिस लेने का मुतालिबा किया है|

TOPPOPULARRECENT