Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / इस्लामी ख़त्ताती नुमाइश क़ाबिले दीद,मुशाहिदा से दिल को सुकून

इस्लामी ख़त्ताती नुमाइश क़ाबिले दीद,मुशाहिदा से दिल को सुकून

हिंदुस्तान के इन मायानाज़ ख़त्तातों को ईरान मदऊ करने की ख़ाहिश का इज़हार करते हुए आक़ाई सईद फ़ख़्रज़ादा मुबस्सिर दफ़्तर रहबरी ख़ामिनई ईरान ने कहा कि सियासत आर्ट गैलरी की जानिब से सालार जंग म्यूज़ीयम में जारी ये नुमाइश इस्लामी

हिंदुस्तान के इन मायानाज़ ख़त्तातों को ईरान मदऊ करने की ख़ाहिश का इज़हार करते हुए आक़ाई सईद फ़ख़्रज़ादा मुबस्सिर दफ़्तर रहबरी ख़ामिनई ईरान ने कहा कि सियासत आर्ट गैलरी की जानिब से सालार जंग म्यूज़ीयम में जारी ये नुमाइश इस्लामी विर्सा है जिस की जितनी भी तारीफ़ की जाए कम है।

उन्हों ने जनाब अहमद अली सदर शोबा मख़तूतात से बात-चीत करते हुए कहा कि वो सालार जंग म्यूज़ीयम के इश्तिराक से दोनों ममालिक के माबैन इस्लामी विर्सा की नुमाइश के लिए अपने मुल्क की जानिब से पेशकश करते हैं जिस में भरपूर तआवुन के लिए जनाब अहमद अली ने उन्हें त्यक्कुन दिया।

गुज़िश्ता एक हफ़्ता से जारी इस नुमाइश के इख़तताम में सिर्फ़ सात यौम बाक़ी रह चुके हैं। नाज़रीन कसीर तादाद में बिलालहाज़ मज़हब और मिल्लत शिरकत कर रहे हैं। मुख़्तलिफ़ मदारिस जैसे एम एस मिशन स्कूल हसन नगर, माउंट मर्सी स्कूल बृंदावन कॉलोनी टोली चौकी और मदीनुल उलूम मुशीराबाद के एक हज़ार से ज़ाइद तलबा ने नुमाइश का मुशाहिदा किया।

मुंतज़मीन नुमाइश ने ज़ईफ़-उल-उमर अस्हाब के लिए लिफ़्ट और व्हील चेयर की सहूलतें भी फ़राहम की हैं। हज़ारों की तादाद में नाज़रीन ने नुमाइश देख कर अपने तास्सुरात कलमबंद किए हैं कि ख़त्ताती की ये नुमाइश क़ाबिले दीद और मुतबर्रिक है। ये रूह को राहत, दिल को सुकून, आँखों को रोशनी और ईमान को ताज़गी बख़शती है।

TOPPOPULARRECENT