Monday , October 23 2017
Home / Islami Duniya / इस्लाम में ख़तरनाक खेलों पर इम्तिना सऊदी मुफ़्ती का फ़तवा

इस्लाम में ख़तरनाक खेलों पर इम्तिना सऊदी मुफ़्ती का फ़तवा

क़ाहिरा, 04 जनवरी: (एजेंसी) सऊदी अरब के मुफ़क्किर इस्लाम मुफ़्ती ने बताया कि इस्लाम में ख़तरनाक खेलों पर पाबंदी है जैसे कुश्ती पर पाबंदी आइद की गई है क्योंकि ये खेल खिलाड़ियों के लिए जान का जोखिम होते हैं । सऊदी अरब के शेख़ अली अल हकमी रुक

क़ाहिरा, 04 जनवरी: (एजेंसी) सऊदी अरब के मुफ़क्किर इस्लाम मुफ़्ती ने बताया कि इस्लाम में ख़तरनाक खेलों पर पाबंदी है जैसे कुश्ती पर पाबंदी आइद की गई है क्योंकि ये खेल खिलाड़ियों के लिए जान का जोखिम होते हैं । सऊदी अरब के शेख़ अली अल हकमी रुकन सुप्रीम स्कालर अथॉरीटी ने बताया कि किसी मुसलमान को इस बात की इजाज़त नहीं है कि वो दूसरे इंसान को ज़रब पहुंचाए । ख़तरनाक खेल जैसे कुश्ती मुक्काबाज़ी-ओ-दीगर खेलों जिससे इंसानी ज़हन या जिस्म पर ज़रबात आते हैं ममनू हैं ।

इस्लाम में आम क़ायदा ये है कि अगर खेल कूद उन नुक़्सानात से पाक है तो उसकी इजाज़त है । जिस खेल से इंसानी जिस्म-ओ-जान को ख़तरा लाहक़ हो तो ममनू है । अल्लाह तआला ने मुसलमानों को एक दूसरे को गज़ंद पहूँचाने से मना किया है । अगर खेल से किसी की भलाई होती है तो उसकी सिफ़ारिश की गई है । लेकिन ख़तरनाक खेलों की हरगिज़ इजाज़त नहीं दी गई है । मुक्काबाज़ी या कुश्तीयों से बाअज़ सूरतों में शदीद ज़ख्म आ सकते हैं ।

TOPPOPULARRECENT