Sunday , October 22 2017
Home / Islami Duniya / इख़वान अल मुस्लिमीन लीडर मिस्र की पार्लीमैंट के स्पीकर

इख़वान अल मुस्लिमीन लीडर मिस्र की पार्लीमैंट के स्पीकर

क़ाहिरा, २३ जनवरी (पी टी आई/यू एन आई) मिस्र की इस्लाम पसंद पार्टी इख़वान अल मुस्लिमीन के लीडर का पार्लीमैंट के स्पीकर मुक़र्रर होना यक़ीनी है। साबिक़ सदर हसनी मुबारक की माज़ूलि के तक़रीबन एक साल बाद मिस्र के पहले इंतेख़ाबात में इख़वान

क़ाहिरा, २३ जनवरी (पी टी आई/यू एन आई) मिस्र की इस्लाम पसंद पार्टी इख़वान अल मुस्लिमीन के लीडर का पार्लीमैंट के स्पीकर मुक़र्रर होना यक़ीनी है। साबिक़ सदर हसनी मुबारक की माज़ूलि के तक़रीबन एक साल बाद मिस्र के पहले इंतेख़ाबात में इख़वान अल मुस्लिमीन को 47 फ़ीसद नशिस्तें हासिल हुई हैं।

498 रुकनी ऐवान में फ़्रीडम ऐंड जस्टिस पार्टी जो इख़वान अल मुस्लिमीन की नुमाइंदगी करती है को 235 नशिस्तें मिले हैं। पार्टी ने अपने सेक्रेटरी जनरल मुहम्मद साद उल-ख़तातनी के इस्तीफ़ा को मंज़ूर कर लिया है और वो पीपल्ज़ असेबली के स्पीकर बन जाऐंगे। मिस्र की सुप्रीम इलेक्शन कमेटी ने कल रात क़तई नताइज का ऐलान किया। जिस में इख़वान अल मुस्लिमीन के लिए हैरतअंगेज़ कामयाबी हुई है।

पहली मर्तबा इख़वान अलमुस्लिमीन इक़तेदार पर पहुंचे हैं। मिस्र के सुप्रीम इलेक्शन कमीशन ने कम-ओ-बेश दो माह से जारी पारलीमानी इंतेख़ाबात के हतमी नताइज का ऐलान कर दिया है। हतमी नताइज के मुताबिक़ पार्लीमैंट में मज़हबी सयासी जमात अख़वान उलम सलमोन और उन के डेमोक्रिटेक एलाइस ने 498 के ऐवान में 235 नशिस्तें जीत ली हैं जो कल नशिस्तों का 47 इशारीया दो फ़ीसद बनती हैं।

उलार बया डाट नैट के मुताबिक़ मिस्री इलेक्शन कमीशन के चेयरमैन अब्दुह लमाज़ इबराहीम ने क़ाहिरा में एक न्यूज़ कान्फ़्रैंस से के दौरान इंतेख़ाबात का हतमी ऐलान किया। उन्हों ने बताया कि कमीशन की जानिब से अलॉट की गई नशिश्तों में अख़वान उलम सलमोन के सयासी बाज़ू ए ज़ादी वानसाफ़ने 127 पर कामयाबी हासिल कर ली है जो कल अलॉट की गई नशिस्तों का दो तिहाई फ़ीसद है, जबकि 108 नशिस्तें जमात ने इन्फ़िरादी हलक़ों में हासिल की हैं।

इलैक्शन कमीशन के मुताबिक़ सख़्त गीर मज़हबी मसलक सलफ़ी ग्रुप के पैरोकारों की जमात उल‍नूर ने ऐवान में 24 इशारीया 29 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल की है। उल-नूर पार्टी ने अलॉट शूदा 96 और इन्फ़िरादी हलक़ों में 25 नशिस्तें जीती हैं जो कि ऐवान में मजमूई तौर पर 121 नशिस्तों के साथ दूसरी बड़ी पार्टी बन कर सामने आई है।

लिबरल जमात अलोफ़द तीसरे जबकि तीन सैक्यूलर जमातों के मुशतर्का इत्तिहाद मिस्री बलॉक चौथे नंबर पर है, जिस में साबिक़ माज़ूल सदर हसनी मुबारक की जमात नैशनल डैमोक्रेटिक पार्टी के अरकान भी शामिल हैं। उधर हतमी सरकारी नताइज के ऐलान के बाद अख़वान उलमसलमोन की जानिब से जारी एक ब्यान में कहा गया है कि पार्लीमैंट का पहला इजलास कल पैर 23 जनवरी को होगा। ब्यान में कहा गया हैकि मिस्री अवाम इज इन्क़िलाब के हक़ीक़ी समरात से मुस्तफ़ीद हो रहे हैं।

हम एक अज़ाद पार्लीमैंट का इजलास एक ऐसे वक़्त में मुनाक़िद कर रहे हैं जब मिस्र में ए ए इन्क़िलाब की पहली सालगिरा मनाई जा रही है। ये हमारे लिए दोहरी ख़ुशी का मौक़ा है।

TOPPOPULARRECENT