Sunday , August 20 2017
Home / Khaas Khabar / ईद-ए-मीलाद पर साम्प्रदायिक तनाव, 300 मुस्लिम युवक गिरफ्तार, दंगाइयों को भाजपा विधायक का समर्थन

ईद-ए-मीलाद पर साम्प्रदायिक तनाव, 300 मुस्लिम युवक गिरफ्तार, दंगाइयों को भाजपा विधायक का समर्थन

मलिकापूर,बिलढाना। महाराष्ट्र के ज़िला बिलढाना के मलिकापूर शहर में ईद-ए- मीलादउन् नबी PBUH के जुलूस के दौरान फूट पड़ने वाले सांप्रदायिक दंगों में अब तक तीन सौ से अधिक मुस्लिम युवकों को गिरफ्तार किया जा चुका है और कर्फ्यू लगाने के बावजूद मुस्लिम संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा रहा है.गुलजार आजमी ने कहा कि बजाय शांति बनाने के स्थानीय भाजपा विधायक साम्प्रदायिक ताकतों का समर्थन कर रहे हैं जिसकी वजह से हालात और खराब होते जा रहे हैं और मुसलमानों की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा रहा है जिस पर त्वरित कार्रवाई करना चाहिए ।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार गुलजार आजमी ने बताया कि ईद मीलादउन नबी स.अ.व. से एक दिन पहले मलिकापुर के एक गैर मुस्लिम लड़के ने पैगम्बर (स.अ.व.) और हज़रत फ़ातिमा की शान में गुस्ताखी की थी जिसके बाद से ही शहर का माहौल खराब था और उस जुलूस मीलादउन नबी के पारंपरिक मार्गों की पुलिस ने अनुमति नहीं दी थी और 25 / हजार लोगों के जुलूस के लिये केवल 70 / पुलिसकर्मियों का प्रावधान किया गया था जिसके कारण जुलूस के प्रतिभागियों पर पथराव किया गया जिसके बाद मुस्लिम युवाओं ने भी अपने बचाव में जवाबी कार्रवाई करते हुए पत्थराव किया जिसकी वजह से माहौल खराब होता गया।

उल्लेखनीय है कि इस पूरे मामले की शिकायत जमीअत उलेमा ए महाराष्ट्र (अरशद मदनी) के कानूनी सहायता समिति के प्रमुख गुलजार आजमी ने पूर्व अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस विधायक आरिफ नसीम खान से की जिसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री का ध्यान इस ओर आकर्षित किया। गुलजार आजमी ने बताया कि उन्हें कल शाम को जमीअत उलेमा के सेवक नजम राशिदी का टेलीफोन मिला जिन्होंने मलिकापूर शहर के हालात बताए जिसके बाद उन्होंने आरिफ नसीम खान से बातचीत की और परिस्थितियों से उन्हें सूचित किया जिसके बाद नसीम खान ने मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री महाराष्ट्र देवेन्द्र फडणवीस से अनुरोध किया कि वह मुस्लिम युवकों की बेजा गिरफ्तारी पर तुरंत रोक लगाने के आदेश जारी करें और हालात को जल्द से जल्द नियंत्रित करने के लिये उच्च पुलिस अधिकारियों को निर्देश दें।

आरिफ नसीम खान ने एसपी बागस्कर और आईजी माथूर से भी टेलीफोन पर बातचीत की और उनसे मुस्लिम नौजवानों की बेजा गिरफ्तारी पर त्वरित रोक और दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग की।

TOPPOPULARRECENT