Saturday , August 19 2017
Home / Khaas Khabar / ईरान इस्लाम का दुश्मन, ईरानी मुसलमान नहीं : सऊदी मुफ्ती का फतवा

ईरान इस्लाम का दुश्मन, ईरानी मुसलमान नहीं : सऊदी मुफ्ती का फतवा

जेद्दह : आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के हज के पैगाम पर सऊदी शासकों ने तीखी प्रतिक्रिया प्रकट की है जिसके बाद सऊदी अरब के सरकारी मुफ्ती अब्दुल अज़ीज़ बिन अब्दुल्लाह आले शेख ने मक्का समाचार पत्र से एक वार्ता में ईरान के वरिष्ठ नेता को इस्लाम का दुश्मन बताया और दावा किया कि उनका बयान, सुन्नी मुसलमानों से विरोध की वजह है।

वहाबी विचार धारा के संस्थापक मुहम्मद बिन अब्दुलवहाब के वंश से ताल्लुक रखने वाले मुफ्ती आले शेख ने कहा “सऊदी अरब की तरफ से हज का इंतेज़ाम संभालने पर ईरानी नेता द्वारा टिप्पणी उम्मीद के उल्टा नहीं है और हमें यह जान लेना चाहिए कि यह लोग मुसलमान नहीं हैं बल्कि यह लोग, आग की पूजा करने वालों की औलाद हैं और मुसलमानों खाश कर सुन्नी मुसलमानों से उनकी दुश्मनी बहुत पुरानी है।”

सऊदी अरब के वहाबी हमेशा खुद को सुन्नी मुसलमानों में शामिल करने का प्रयास करते हैं। याद रहे अब्दुल अज़ीज़ बिन अब्दुल्लाह आले शेख सऊदी अरब के सरकारी मुफ्ती हैं और हमेशा सऊदी शासकों के इशारों पर फतवे देते हैं। इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने हज के अवसर पर अपने संदेश में कहा है कि हाजियों के साथ सऊदी शासकों के अत्याचारपूर्ण व्यवहार की वजह से इसलामी जगत को हज संस्कार का इंतेज़ाम संभालने के विषय पर गंभीरता से विचार करना चाहिए अन्यथा इस्लामी राष्ट्र अधिक बड़ी समस्याओं में ग्रस्त हो जाएगा।

TOPPOPULARRECENT