Thursday , October 19 2017
Home / World / ईरान की शाम को गै़रक़ानूनी हथियार की फ़राहमी : अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ)

ईरान की शाम को गै़रक़ानूनी हथियार की फ़राहमी : अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ)

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) ने कहा है कि ईरान के लिए गै़रक़ानूनी हथियारों की फ़रोख़त के हवाले से शाम सर-ए-फ़ेहरिस्त (सबसे पहला) मंज़िल है जब कि ईरान मुसलसल इस हवाले से अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) की क़रारदादों की ख़िलाफ़वरज़ी कर रह

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) ने कहा है कि ईरान के लिए गै़रक़ानूनी हथियारों की फ़रोख़त के हवाले से शाम सर-ए-फ़ेहरिस्त (सबसे पहला) मंज़िल है जब कि ईरान मुसलसल इस हवाले से अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) की क़रारदादों की ख़िलाफ़वरज़ी कर रहा है। अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) के माहिरीन की एक टीम की जानिब से सलामती(सुरक्षा) कौंसिल की ईरान पर पाबंदीयों बारे कमेटी में जमा कराई गई रिपोर्ट में कहा गया है कि

गुज़िश्ता साल माहिरीन की टीम ने ईरान के गै़रक़ानूनी हथियारों की तीन बड़ी खेपों के बारे में तहक़ीक़ात की हैं जिन से ये वाज़िह हुआ है कि ईरान मुसलसल अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) की क़रारदादों की ख़िलाफ़वरज़ी कर रहा है । रिपोर्ट में कहा गया है कि इन में से दो खेप शाम भेजी गईं। रिपोर्ट के मुताबिक़ तहक़ीक़ात के दौरान ये बात भी सामने आई है कि ईरान की जानिब से गै़रक़ानूनी हथियारों की फ़रोख़त के हवाले से शाम उस की सर-ए-फ़हरिस्त(सबसे पहला) मंज़िल है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हथियारों की तीसरी खेप इन राकेटों पर मुश्तमिल थी जिन के बारे में गुज़िश्ता साल बर्तानिया ने कहा था कि ये राकेट ईरान की जानिब से अफ़्ग़ानिस्तान में तालिबान को फ़राहम किए गए हैं । रिपोर्ट में सिफ़ारिश की गई है कि ईरान पर इस हवाले से मज़ीद पाबंदीयां आइद की जानी चाहिऐं।

दरींअसना (जब कि) ईरान के ख़िलाफ़ ना सिर्फ अक़वाम-ए-मुत्तहिदा (यू एन ओ) बल्कि अमेरीका की सेनिट में भी मुहिम जारी हैं जहां तेहरान के कट्टर मुख़ालिफ़ीन पूरी सअई कर रहे हैं कि महमूद अहमदी नज़ाद हुकूमत के ख़िलाफ़ नई तहदीदात आइद कर दी जाएं।

TOPPOPULARRECENT