Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / ईरान के साइंसदां ने बनाई मुस्तकबिल बताने वाली टाइम मशीन !

ईरान के साइंसदां ने बनाई मुस्तकबिल बताने वाली टाइम मशीन !

नई दिल्ली, 11 अप्रैल: ईरान के एक साइंसदां ( Scientist) का दावा मानें तो असल जिंदगी के लिए भी टाइम मशीन बना ली गई है। जी हां, ईरान के साइंसदां अली राजेगी ने दावा किया है कि दस सालों की कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने मुस्तकबिल की गिनती करने वाली टाइम

नई दिल्ली, 11 अप्रैल: ईरान के एक साइंसदां ( Scientist) का दावा मानें तो असल जिंदगी के लिए भी टाइम मशीन बना ली गई है। जी हां, ईरान के साइंसदां अली राजेगी ने दावा किया है कि दस सालों की कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने मुस्तकबिल की गिनती करने वाली टाइम मशीन ईजाद कर ली है। राजेगी ने ईरान के ‘सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक इन्वेंशन’ में इस मशीन का रजिस्ट्रेशन भी करवा लिया है।

टेलीग्राफ के मुताबिक मशीन का नाम ‘द आर्यायेक टाइम ट्रैवलिंग मशीन’ रखा गया है। राजेगी ने दावा किया है कि इस मशीन की बदौलत इंसान आठ साल आगे के मुस्तकबिल का हिसाब कर सकता है।

राजेगी ने फार्स स्टेट न्यूज एजेंसी को बताया कि यह मशीन यूजर की क्वैरी पर यूजर के टच सिग्नल मिलने पर मुस्तकबिल के बारे में बताती है। मुस्तकबिल की इत्तेला प्रिंट आउट के तौर पर मिलती है।

27 साल के राजेगी ने बताया कि यह मशीन ‘कॉम्पलेक्स एल्गोरिदिम’ के सेट की तरफ से काम करती है। राजेगी ने दावा किया कि मशीन किसी शख्स के आठ साल आगे के मुस्त्कबिल का हिसाब कर सकती है और यह हिसाब 98 फीसदी सही होती है।

राजेगी कोई मामूली वैज्ञानिक नहीं है। वो ‘सेंटर फॉर स्ट्रेटेजिक इन्वेंशन’ के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं और अभी तक इंसानी ज़ात के लिए फायदेमंद 179 इजाद कर चुके हैं।

राजेगी ने कहा कि उनका यह इजाद किसी भी पर्सनल कंप्यूटर में‌ फिट हो सकता है। राजेगी ने कहा कि यह आपको मुस्तकबिल में लेकर नहीं जाएगी बल्कि मुस्तकबिल को आप तक पहुंचा देगी।

राजेगी ने कहा ईरान हुकूमत इस मशीन के जरिए आने वाले पांच सालों में पड़ोसी मुल्क से मुम्किना जंग, करेंसी में उतार चढ़ाव और तेल की कीमतो‍ का अंदाजा कर सकती है।

उन्होंने कहा कि जाहिर तौर पर पांच सालों का हिसाब करके कोई भी हुकूमत अपने आपको आने वाली चीजों के लिए तैयार कर सकती है और यह मुल्क की बेहतरी के लिए होगा।

राजेगी ने कहा कि मशीन बनाने के दौरान उनके कई दोस्तों और खानदान वालो ने उनकी यह कहते हुए तनकीद की कि वो ‘खुदा के खिलाफ’ जा रहे हैं। लेकिन ऐसा नहीं है, यह मशीन किसी भी मज़हब और खुदा के खिलाफ नहीं है।

राजेगी ने कहा कि जल्द ही इसकी बिक्री बड़े स्तर पर की जाएगी ताकि दूसरे मुल्क और लोग इसे खरीद सकें। एक तरफ अमेरिकी लाखों डालर खर्च करके इसे बनाने की कोशिश कर रहे हैं और दूसरी तरफ उन्होंने बेहद कम खर्च में इसका इजाद कर लिया है।

TOPPOPULARRECENT