Monday , October 23 2017
Home / India / उत्तरप्रदेश के अवाम तबदीली के हक़ में वोट दें राहुल गांधी की अपील

उत्तरप्रदेश के अवाम तबदीली के हक़ में वोट दें राहुल गांधी की अपील

फूलपुर्( उत्तरप्रदेश )15 नवंबर ( पी टी आई ) कांग्रेस लीडर राहुल गांधी ने आज उत्तरप्रदेश में अपनी पार्टी की इंतिख़ाबी मुहिम का आग़ाज़ करदिया । उन्हों ने इस मौक़ा पर रियासत में मायावती की क़ियादत वाली बी एस पी हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बन

फूलपुर्( उत्तरप्रदेश )15 नवंबर ( पी टी आई ) कांग्रेस लीडर राहुल गांधी ने आज उत्तरप्रदेश में अपनी पार्टी की इंतिख़ाबी मुहिम का आग़ाज़ करदिया । उन्हों ने इस मौक़ा पर रियासत में मायावती की क़ियादत वाली बी एस पी हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि ये हुकूमत बद उनवान है । वो ग़रीबों के तईं एहसास से आरी है और मर्कज़ी फ़ंडज़ का बेजा इस्तिमाल करती है ।

राहुल गांधी ने पार्टी की इंतिख़ाबी मुहिम का अपने दादा पण्डित जवाहर लाल नहरू के हल्क़ा-ए-इंतख़ाब फोलपोर से आग़ाज़ किया और इत्तिफ़ाक़ की बात है कि आज पण्डित नहरू का 123 वां यौम-ए-पैदाइश भी था । राहुल गांधी ने अपने ख़िताब में कहा कि उत्तरप्रदेश पसमांदगी में जा रही है । पण्डित नहरू यहां के रुकन पार्लीमैंट थे । रियासत में कोई तरक़्क़ी नहीं है ।

वो गुज़शता सात साल से सियासत में हैं और उन बरसों में उन्हों ने उत्तरप्रदेश के अवाम से बहुत कुछ सीखा है । मायावती हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि बुंदेलखंड इलाक़ा में अपने दौरा के मौक़ा पर उन्हों ने ख़ुशकसाली और ग़ुर्बत को बहुत क़रीब से देखा है । उन्हों ने कहा कि मर्कज़ी हुकूमत ने महात्मा गांधी क़ौमी ज़मानत रोज़गार स्कीम शुरू की है जिस के तहत हर किसी को काम मिलना चाहीए । ताहम बुंदेलखंड में ऐसा नहीं है ।

मर्कज़ से भेजे गए करोड़ों रुपय ग़ायब होगए हैं । बी एस पी वर्कर्स और कंट्टर एक्टर्स को इस रक़म से फ़ायदा हुआ है जबकि ग़रीब अवाम इस से महरूम हैं। उन्हों ने कहा कि चीफ़ मिनिस्टर मायावती ने बुंदेलखंड का दौरा तक नहीं किया है और इस इलाक़ा केलिए मर्कज़ ने जो मआशी पैकेज रवाना किया था उसे इस इलाक़ा के अवाम केलिए इस्तिमाल नहीं किया गया ।

उन्हों ने कहा कि वो वज़ीर-ए-आज़म से रुजू हुए थे और कहा था कि इस इलाक़ा में ग़ुर्बत है । वज़ीर-ए-आज़म ने 7,000 करोड़ रुपय के पैकेज का ऐलान किया था लेकिन ये रक़म ग़रीबों तक नहीं पहूँची। उन्हों ने भट्टा । पर उसूल का ज़िक्र किया और कहा कि वहां एहतिजाज करने वाले किसानों पर पुलिस ने फायरिंग की । उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि उत्तरप्रदेश हुकूमत ने किसानों की अराज़ी खींच ली और इलाक़ा की ख़वातीन को ज़िद-ओ-कोब का निशाना बनाया गया ।

उन्हों ने कहा कि उत्तरप्रदेश में हर सिम्त करप्शन है । अगर कोई एफ़ आई आर दर्ज करवाना चाहता है तो पैसे देना पड़ता है । अगर आप की लड़की पर हमला होता है और आप के पास एफ़ आई आर दर्ज करवाने पैसे नहीं हैं तो फिर आप शिकायत भी दर्ज नहीं करवा सकते ।

उन्हों ने इद्दिआ किया कि वो अलीगढ़ के बाफ़िंदों केलिए भी 3,000 करोड़ रुपय का पैकेज हासिल करने में कामयाब हुए थे लेकिन ये रक़म भी अवाम के हाथों तक नहीं पहूँची थी । उन्हों ने कहा कि बाफ़िंदे उन तक आए थे और कहा कि ये रक़म उन तक नहीं पहूंच रही है । इस में कुछ तबदीलीयां की गईं और अब ये रक़म बाफ़िंदों के ऎकाउन्ट्स् तक पहूँची है ।

मिस्टर गांधी ने कहा कि कोई भी लीडर उसी वक़्त ग़रीबों की तकलीफ़ को समझ सकता है जब वो उन के गावों तक जाय और उन के साथ खाना खाए । उत्तरप्रदेश के अवाम ने उन्हें सिखाया है कि किसी भी लीडर को अवाम तक पहूंचना चाहीए ।

जब तक एक लीडर ग़रीब के घर में खाना नहीं खाता वो उस वक़्त तक उन के मसाइल को नहीं समझ सकता । जब तक इस का मादा ख़राब ना हो वो बीमार ना होजाए उस वक़्त तक ग़ुर्बत को नहीं समझ सकता ।

ये वाज़िह करते हुए कि कांग्रेस पार्टी आम आदमी की तरक़्क़ी केलिए पाबंद अह्द है मिस्टर गांधी ने रियासत के अवाम और खासतौर पर नौजवानों से अपील की कि वो तरक़्क़ी के दौर में क़दम रखने तबदीली के हक़ में वोट दें। उन्हों ने अवाम पर ज़ोर दिया कि वो अपने ज़हनों में तबदीलें सबब् लाएंगे और ऐसी पार्टी को वोट दें जो तरक़्क़ी की पाबंद हो ।

तबदीली के बगै़र यहां के अवाम काज की तलाश में कब तक दूसरी रियास्तों को मुंतक़िल होंगे ? । उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि गुज़शता बीस साल में रियासत में कोई तरक़्क़ी नहीं हुई है और मुसलसल हुकूमतें तरक़्क़ीयाती सरगर्मीयों को नजरअंदाज़ करती रही हैं।

TOPPOPULARRECENT