Sunday , April 30 2017
Home / Sports / उम्र को मात देते पाकिस्तानी बल्लेबाज मिस्बाह उल हक ने खेली तूफानी पारी

उम्र को मात देते पाकिस्तानी बल्लेबाज मिस्बाह उल हक ने खेली तूफानी पारी

नई दिल्ली: टी-20 क्रिकेट में इन दिनों पाकिस्तान सुपर लीग चर्चा में है. जहां एक ओर उस पर फिक्सिंग का साया है और कुछे खिलाड़ियों को इसे लेकर बैन भी किया गया है, वहीं खिलाड़ियों के प्रदर्शनों की भी चर्चा है. इस लीग में ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर शेन वाटसन, ब्रैड हैडिन, ब्रेंडन मैक्कलम, जेसन रॉय, ड्वेन स्मिथ, सैम बिलिंग्स और पाकिस्तान के उम्र को मात देते टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक जैसे कई बड़े चेहरे भी खेल रहे हैं. इंटरनेशनल लेवल पर तो मिस्बाह टी-20 और वनडे दोनों को अलविदा कह चुके हैं, लेकिन पीएसएल में वह न केवल खेल रहे हैं बल्कि अपनी टीम की कप्तानी भी कर रहे हैं. खास बात यह कि मिस्बाह भले ही टी-20 क्रिकेट से दूर थे, लेकिन उन्होंने पीएसएल में धमाकेदार शुरुआत की है. शनिवार को खेली उनकी एक पारी की हर जगह चर्चा है, जिसमें उन्होंने एक रिकॉर्ड बुक में खुद का नाम दर्ज करवा लिया है. आइए जानते हैं कि मिस्बाह ने कौन-सा रिकॉर्ड बनाया है…

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक की पाकिस्तान सुपर लीग में धूम मची हुई है. मिस्बाह इस लीग में इस्लामाबाद यूनाइटेड टीम से खेल रहे हैं और उसके कप्तान भी हैं. उनकी टीम ने लाहौर क्वॉलैंडर्स के खिलाफ इस मैच में पहले बैटिंग की. ओपनर ड्वेन स्मिथ और सैम बिलिंग्स ने पहले विकेट के लिए 73 रन जोड़े. दसवें ओवर की पहली ही गेंद पर बिलिंग्स (37) के आउट होने के बाद उसी ओवर में स्मिथ (31) भी लौट गए. फिर कप्तान मिस्बाह बैटिंग करने आए और शानदार पारी खेली और सबसे अधिक उम्र में टी-20 फिफ्टी लगाने का रिकॉर्ड बनाने वाले बल्लेबाजों में अपना नाम दर्ज करवा लिया.

मिस्बाह ने इस्लामाबाद यूनाइटेड के लिए 36 गेंदों में 61 रनों की नाबाद पारी खेली, जिसमें 5 गगनचुंबी छक्के लगाए और 3 चौके जड़े. उन्होंने छठे विकेट के लिए शादाब खान के साथ 40 रन की साझेदारी की. 61 रन की इस पारी के साथ ही मिस्बाह टी-20 फॉर्मेट में सबसे अधिक उम्र में फिफ्टी ठोकने वाले तीसरे क्रिकेटर बन गए. उनकी टीम ने 20 ओवर में 158 रन का स्कोर खड़ा किया. जवाब में लाहौर क्वॉलैंडर्स की टीम ने 18.2 ओवर में ही 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. उनकी ओर से जेसन रॉय ने 60 रन की पारी खेली.

मिस्बाह से पहले अधिक उम्र में टी-20 फिफ्टी लगाने वाले बल्लेबाजों में डेविड हंप सबसे ऊपर हैं, जिन्होंने साल 2013 में 43 साल 107 दिन की उम्र में बरमूडा से खेलते हुए फिफ्टी लगाई थी. दूसरे नंबर पर श्रीलंका के सनत जयसूर्या हैं. जयसूर्या ने 42 साल 271 दिन की उम्र में साल 2012 में श्रीलंका एएकएससी की ओर से फिफ्टी लगाई थी. मिस्बाह उनसे दिनों के मामले में पीछे रह गए. वास्तव में मिस्बाह ने यह उपलब्धि 42 साल और 259 दिन में हासिल की है.

मिस्बाह उल हक की पारी को लेकर फैन्स के बीच खासा क्रेज देखा गया और उनकी टीम के फेसबुक पेज फैन्स की प्रतिक्रिया प्रतीकात्मक रूप से लगातार पोस्ट की जा रही थी…

जब मिस्बाह उल हक ने एक बड़ा छक्का लगाया, तो टीम के ट्विटर हैंडल ने पोस्ट किया…
ANOTHER SIX!

ISLAMABAD FANS TO MISBAH RIGHT NOW… pic.twitter.com/7g2v0sRSng
— Islamabad United (@IsbUnited) February 11, 2017

मिसबाह उल हक ने पाकिस्तान के लिए 39 टी-20 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 788 रन बनाए थे. इंटरनेशनल टी20 में उनका बेस्ट स्कोर 87* रन रहा. मिस्बाह अपने करियर के शुरुआती दौर से ही काफी आक्रामक बल्लेबाज रहे हैं. जब टीम इंडिया ने 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप जीता था, तो जोगिंदर शर्मा ने उनको ही आउट किया था. उस समय ऐसा लग रहा था कि मिस्बाह टीम इंडिया के हाथ से जीत छीन ले जाएंगे.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT