Monday , September 25 2017
Home / AP/Telangana / उस्मानिया यूनीवर्सिटी की सूरते हाल तशवीशनाक कई जायदादें खाली

उस्मानिया यूनीवर्सिटी की सूरते हाल तशवीशनाक कई जायदादें खाली

हैदराबाद 29 मार्च: हुकूमत रियासत के तमाम सरकारी मदारिस में मयार तालीम को बेहतर बनाने के साथ बुनियादी सहूलतें फ़राहम करने के लिए 1500 करोड़ रुपये ख़र्च करेगी। आइन्दा तालीमी साल के आग़ाज़ तक तमाम मदारिस में जहां कहीं भी ज़रूरत हो फ़र्नीचर फ़राहम किया जाएगा और बताया कि मुल्क भर में इंटरमीडीएट तक मुफ़्त तालीम फ़राहम करने का रियासत तेलंगाना को ही एज़ाज़ हासिल है।

तेलंगाना क़ानूनसाज़ असेंबली में महिकमा सेकेंडरी आला-ओ-टेक्नीकल एजूकेशन के मुतालिबात ज़र पर हुए मबाहिस पर डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के श्री हरी ने ये जवाब दिया। उन्होंने कहा कि समाजी तरक़्क़ी के साथ साथ रियासत-ओ‍-मुल्क की तरक़्क़ी के लिए इन्सानी वसाइल इंतेहाई एहमीयत के हामिल हैं। उन्होंने साबिक़ हुकूमतों को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि हर ज़िला में एक यूनीवर्सिटी क़ायम की लेकिन इस यूनीवर्सिटी के लिए ना ही कोई इमारत फ़राहम की गई और ना ही प्रोफेसर्स-ओ-स्टाफ़ के तक़र्रुत अमल में लाए गए।

श्री हरी ने कहा कि कलीदी एहमीयत की हामिल उस्मानिया यूनीवर्सिटी में सिनीयर प्रोफेसर वज़ीफे पर सबकदोश हो रहे हैं जिसकी वजह से कई जायदादें मख़लवा हो रही हैं। लिहाज़ा उन्होंने उस्मानिया यूनीवर्सिटी की मौजूदा सूरते हाल पर अपनी गहिरी तशवीश का इज़हार करते हुए कहा कि उस्मानिया यूनीवर्सिटी को भी एन ए सी एकरीडीशन से महरूम होजाने का डर लाहक़ हो चुका है। उन्होंने कहा कि रियासत तेलंगाना में जुमला 55 डिग्री कॉलेजस ( सरकारी) पाए जाते हैं जिनके मिनजुमला 36 डिग्री कॉलेजस को ही एनएसी एकरीडीशन हासिल हुए हैं जबकि दुसरे कॉलेजों में दरकार सहूलतें फ़राहम ना होने की वजह से उन्हें एकरीडीशन हासिल नहीं हो सके।

डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि हुकूमत 70 अक़लियती अक़ामती मदारिस क़ायम करने और उन अक़ामती स्कूलों के मुक़ाम को भी क़तईयत दे दी गई है आइन्दा साल 60 नए अक़ामती स्कूलस क़ायम किए जाऐंगे तब हलक़ा असेंबली कोड़निगल में भी अक़लियती अक़ामती स्कूल क़ायम करने का रेवेंत रेड्डी रुकने असेंबली तेलुगू देशम पार्टी को वाज़िह यकीन दिया।

उन्होंने कहा कि महिकमा तालीमात मैं मियां और बीवी अलाहिदा अलाहिदा दूर दराज़ इलाक़ों में ख़िदमात अंजाम देने की सूरत में हुकूमत उन्हें एक ही मुक़ाम पर ख़िदमात अंजाम देने की सहूलत फ़राहम करने के लिए उन्हें अहकामात हासिल होने के साथ बेहतर् इक़दामात करेंगे।

TOPPOPULARRECENT