Sunday , October 22 2017
Home / Uttar Pradesh / एक महीने में 30 हजार कमाता था कोहली और खर्च करता था एक लाख

एक महीने में 30 हजार कमाता था कोहली और खर्च करता था एक लाख

सीआईडी ने तारा शाहदेव-रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल हसन मामले की तहक़ीक़ात तेज कर दी है। पूरे मामले में सीआईडी कई नुक्तों पर तहक़ीक़ात कर रही है। इसमें रंजीत सिंह कोहली उर्फ रकीबुल के खिलाफ कई और मामले सामने आए हैं। तहक़ीक़ात में यह खुलासा ह

सीआईडी ने तारा शाहदेव-रंजीत कोहली उर्फ रकीबुल हसन मामले की तहक़ीक़ात तेज कर दी है। पूरे मामले में सीआईडी कई नुक्तों पर तहक़ीक़ात कर रही है। इसमें रंजीत सिंह कोहली उर्फ रकीबुल के खिलाफ कई और मामले सामने आए हैं। तहक़ीक़ात में यह खुलासा हुआ है कि रकीबुल की जितनी आमदानी थी, उससे कई गुना ज़्यादा वह खर्च करता था।

उसे दो कंपनियों से हर महीने औसतन 30 से 40 हजार रुपए की आमदानी होती थी। लेकिन उसका महीने का खर्च एक लाख से ज़्यादा था। ऐसे में रकीबुल के खिलाफ अब मनी लाउंड्रिंग का मामला भी चलेगा। सीआईडी ने उसके आमदानी और खर्च का अदादोशुमार जुटाया है। और, इस नुक्ते पर रकीबुल से पूछताछ भी की है। लेकिन उसने अब तक कोई तसल्ली बख्श जवाब नहीं दिया है।

रंजीत सिंह कोहली उर्फ रकीबुल ने साल 2010 में कौशल बायोटेक कंपनी नामी दो एनजीओ कंपनी खोली थी। दोनों कंपनियों के जरिये से वह दरख्त रोपने का काम कराता था। दरख्त रोपने का काम वह मनरेगा से लेता था। इसी दौरान वह आईएफ़एस के अफसर परितोष उपाध्याय से मिला था। उन्होंने काम नहीं दिया और कहा कि जंगल महकमा में प्लांटेशन का काम खुद महकमा कराता है। इसके बाद रकीबुल ने मनरेगा में दरख्त रोपने का काम लेना शुरू किया।

TOPPOPULARRECENT