Sunday , October 22 2017
Home / Crime / एक शख़्स सबूत ना होने पर बीवी के क़तल के इल्ज़ाम से बरी

एक शख़्स सबूत ना होने पर बीवी के क़तल के इल्ज़ाम से बरी

शुबा का फ़ायदा देते हुए बम्बे हाईकोर्ट ने एक शख़्स को अपने बीवी के ज़ाइद अज़ एक दुहा क़बल पेश आए क़तल के इल्ज़ाम मंसूबे से बरी कर दिया।

शुबा का फ़ायदा देते हुए बम्बे हाईकोर्ट ने एक शख़्स को अपने बीवी के ज़ाइद अज़ एक दुहा क़बल पेश आए क़तल के इल्ज़ाम मंसूबे से बरी कर दिया।

दत्तू मुरलीधर मधवाए साकिन ज़िला नासिक जिस पर अपनी बीवी कवीता को ज़द्द-ओ-कूब करके उसे बाव‌ली में फेंक देने का इल्ज़ाम आइद हुआ, उसे बरी कर दिया गया क्योंकि इस्तिग़ासा मुल्ज़िम के ख़िलाफ़ अपना केस साबित करने में नाकाम हुआ।

उसे सुमावती अदालत ने उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई थी। मचनदरा और रमेश जो दोनों दत्तू के बिरादरान हैं, उन्हें भी अपनी भाभी को एसे ज़ख़म पहुंचाने के इल्ज़ाम से बरी कर दिया, जो उसकी मौत का सबब हुए। ये दोनों को 7 साल क़ैद बामुशक़क़्त की सज़ा हुई थी।

TOPPOPULARRECENT