Tuesday , October 24 2017
Home / Uttar Pradesh / एटूजेड ने अल्टीमेटम दिया

एटूजेड ने अल्टीमेटम दिया

शहर में साफ-सफाई करनेवाली कंपनी एटूजेड ने कॉर्पोरेशन से कहा है कि एक माह में उनकी मांगों पर गौर नहीं किया गया, तो शहर की साफ-सफाई बंद कर देंगे। इस सिलसिले में एटूजेड ने कॉर्पोरेशन के सीइओ दीपांकर पंडा को एक खत भी भेजा है।

शहर में साफ-सफाई करनेवाली कंपनी एटूजेड ने कॉर्पोरेशन से कहा है कि एक माह में उनकी मांगों पर गौर नहीं किया गया, तो शहर की साफ-सफाई बंद कर देंगे। इस सिलसिले में एटूजेड ने कॉर्पोरेशन के सीइओ दीपांकर पंडा को एक खत भी भेजा है।
एटूजेड इंतेजामिया ने खत में लिखा है कि करार के मुताबिक नगर निगम की तरफ से एटूजेड को हर वार्ड में कचड़ा गिराने के लिए एक सब स्टेशन देना था, जो अब तक नहीं मिला है। सब स्टेशन नहीं मिलने की वजह कचड़े के उठाने से लेकर उसे झीरी में गिराने तक काफी परेशानी हो रही है।

टीपिंग फीस की रकम लौटायें

एटूजेड इंतेजामिया ने कॉर्पोरेशन से टीपिंग फीस के तौर में जमा 3.50 करोड़ रुपये की रकम को तुरंत लौटाने की भी मांग की है। इंतेजामिया का कहना है कि यह रकम नहीं दिये जाने की वजह मुलाज़मीन को तंख्वाह देने में परेशानी हो रही है। इससे मुलजिम काम छोड़ कर भाग रहे हैं।

नहीं मिला डंपिंग यार्ड

एटूजेड इंतेजामिया ने खत में लिखा है कि करार के मुताबिक उसे शहर में चार डंपिंग यार्ड फराहम कराये जाने थे, जहां गाड़ियों का पड़ाव और वर्कशॉप बना सके। लेकिन चार की जगह सिर्फ एक जगह (नागाबाबा खटाल) ही मिला। इस वजह गाड़ियों को खड़ा करने में परेशानी हो रही है। यहां से कचरा को झीरी ले जाने में भी काफी परेशानी हो रही है।

TOPPOPULARRECENT