Monday , October 23 2017
Home / Education / एनआईटी मसले पर जम्मू बंद

एनआईटी मसले पर जम्मू बंद

नई दिल्ली: जम्मू क्षेत्र में आम जीवन रुक गया है। एनआईटी श्रीनगर में बाहरी छात्रों पर पुलिस की कथित ज्यादतियों का विरोध करते हुए बंद मनाया गया। जम्मू-कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी सहित विभिन्न समूहों ने जम्मू में बंद का आह्वान किया था। / 5 अप्रैल को पुलिस की ओर से बाहरी छात्रों पर किए गए लाठीचार्ज के विरोध किया जा रहा है। जम्मू प्रांतीय पीपुल्स मंच राम सेना और विभिन्न छात्र संगठनों ने एक दिवसीय जम्मू बंद की अपील के समर्थन में विरोध किया। बार एसोसिएशन के तहत जम्मू भी इस क्षेत्र की सभी अदालतों में काम बंद कर दिया।

इसी दौरान मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कहा कि एनआईटी श्रीनगर के छात्रों जहां मुठभेड़ के कारण तनाव पाई जाती है बाद में परीक्षा में भाग ले सकते हैं। यह निर्णय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तीन सदस्यीय टीम से परिसर का दौरा करने के बाद किया गया। टीम ने परिसर की स्थिति की समीक्षा की और तनाव कम करने के लिए विरोध छात्रों के साथ बातचीत भी की। परिसर में वे कुछ समय के लिए घर जाना चाहते हैं और बाद में परीक्षा में भाग लेंगे। उनके लिए परीक्षा फिर से आयोजित किया जाएगा। छात्रों ने टीम के सामने कहा कि पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्य‌वाई की जाए|

इस संस्था को कश्मीर से बाहर ले जाया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि परिसर में ऐसे छात्र भी हैं जो बाद में परीक्षा लिखना चाहते हैं, जबकि छात्रों के बहुमत परीक्षाओं के आयोजन के लिए आग्रह कर रही है। इसलिए उन्हें यह अधिकार दिया जा रहा है कि जो छात्र परीक्षा लिखना चाहते हैं उन्हें परीक्षा लिखने का मौका दिया जाएगा और अन्य के लिए मंत्रालय से परामर्श के बाद फैसला किया जाएगा।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी श्रीनगर में आज भी स्थिति तनावपूर्ण देखी गई। बाहरी छात्रों के एक छोटे समूह ने इस संस्था को कश्मीर से स्थानांतरित करने की मांग की। अन्य राज्यों की महिलाओं छात्राओं ने कैमपं मार्च निकाला। विरोध छात्रों ने कहा कि परिसर में मार्च निकाला गया है और परिसर के बाहर इकट्ठा छात्रों के साथ दुर्व्यवहार किया गया है। विरोध छात्रों ने परिसर में मार्च निकाला जिस पर डायरेक्टर जनरल पुलिस के राजेंद्र कुमार विरोध छात्रों से बात करने के लिए परिसर पहुंच गए हैं। सरकार ने एनआईए मुठभेड़ समय तय अंदर जांच का आदेश दिया है।

TOPPOPULARRECENT