Tuesday , October 17 2017
Home / India / एन डी ए में इख्तेलाफ़ात के अज़ाला की कोशिश

एन डी ए में इख्तेलाफ़ात के अज़ाला की कोशिश

हलीफ़ पार्टी की जानिब से तन्क़ीद के बाद बी जे पी ने आज जे डी (यू) के साथ समझौता करने की और नुक़्सान पर क़ाबू पाने की कोशिश की। सदर बी जे पी नीतिन गडकरी ने बाअज़ यू पी ए में शामिल पार्टीयों से रब्त पैदा करते हुए इम्कानी सदारती उम्मीदवार के

हलीफ़ पार्टी की जानिब से तन्क़ीद के बाद बी जे पी ने आज जे डी (यू) के साथ समझौता करने की और नुक़्सान पर क़ाबू पाने की कोशिश की। सदर बी जे पी नीतिन गडकरी ने बाअज़ यू पी ए में शामिल पार्टीयों से रब्त पैदा करते हुए इम्कानी सदारती उम्मीदवार के बारे में बातचीत की।

गडकरी ने शिकायत की कि हुकूमत ने उन की पार्टी से जो अहम अपोज़ीशन हैं, इस मसला पर तबादला-ए-ख़्याल नहीं किया। बी जे पी इत्तेफ़ाक़ राय पर भी ग़ौर कर सकती थी।

आज सुषमा स्वराज ने जे डी (यू) के शरद यादव से मुलाक़ात की जो एन डी ए के कन्वीनर हैं और समझा जाता है कि इन के साथ सदारती इंतेख़ाबात के बारे में अपने (सुषमा स्वराज के) तब्सिरे से पैदा होने वाले मसाएल पर समझौते की कोशिश की।

ज़राए के बमूजब मुलाक़ात सीनीयर बी जे पी क़ाइद एल के अडवानी की जानिब से इस नज़रिया के इज़हार के बाद की गई जिस में उन्होंने कहा था कि सदारती उम्मीदवार के मसला पर एन डी ए में फूट नहीं पैदा होनी चाहीए। दोनों पार्टीयों ने इस मसला पर उस वक़्त तक बरसर-ए-आम इज़हार-ए-ख़्याल ना करने से इत्तेफ़ाक़ किया जब तक कि एन डी ए का इजलास मुनाक़िद ना किया जाए।

बी जे पी के एक क़ाइद ने कहा कि सुषमा स्वराज ने जो कुछ कहा था बी जे पी का नुक़्ता-ए-नज़र था। इस मसला पर एन डी ए में शरीक दूसरी पार्टीयों बिशमोल जे डी (यू) से तबादला-ए-ख़्याल नहीं किया गया था। एन डी ए का एक इजलास इस मसला पर तबादला-ए-ख़्याल के लिए अनक़रीब मुनाक़िद किया जाएगा।

इलाक़ाई पार्टीयां वोट्स हासिल करने में अहम किरदार अदा करती हैं। इन के साथ तबादला-ए-ख़्याल और एन डी ए की इन की जानिब से ताईद और दीगर छोटी पार्टीयों की ताईद जिन में से चंद पार्टीयां यू पी ए में भी हैं उन की ताईद और आम इत्तेफ़ाक़ राय के ज़रीया फ़ैसला करने का सदर बी जे पी नितिन गडकरी ने भी इंदौर में एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान ऐलान किया।

उन्होंने कहा कि बी जे पी शरद यादव से बातचीत करेगी। इलावा अज़ीं चीफ़ मिनिस्टर बिहार नतीश कुमार से भी तबादला-ए-ख़्याल किया जाएगा। दरीं असना कांग्रेस ने आज कहा कि वो बी जे पी से बातचीत करेगी ताकि सदारती उम्मीदवार के बारे में इत्तेफ़ाक़ राय पैदा किया जाए।

ताहम कांग्रेस तर्जुमान रेनूका चौधरी ने ये भी वाज़िह कर दिया कि कांग्रेस मुक़ाबला से ख़ौफ़ज़दा नहीं है।

TOPPOPULARRECENT