Monday , October 23 2017
Home / India / एन सी टी सी के क़ियाम से दसतबरदारी इख्तेयार की जाए

एन सी टी सी के क़ियाम से दसतबरदारी इख्तेयार की जाए

मुल्क में क़ौमी इन्सिदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ ( एन सी टी सी ) के क़ियाम की मुख़ालिफ़त में आज मज़ीद इज़ाफ़ा हुआ जबकि चीफ मिनिस्टर बिहार मिस्टर नितिश कुमार ने इस मुजव्वज़ा मर्कज़ के क़ियाम की मुख़ालिफ़त की और वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह को मकतूब र

मुल्क में क़ौमी इन्सिदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ ( एन सी टी सी ) के क़ियाम की मुख़ालिफ़त में आज मज़ीद इज़ाफ़ा हुआ जबकि चीफ मिनिस्टर बिहार मिस्टर नितिश कुमार ने इस मुजव्वज़ा मर्कज़ के क़ियाम की मुख़ालिफ़त की और वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह को मकतूब रवाना किया है ।

इलावा अज़ीं चीफ मिनिस्टर उड़ीसा मिस्टर नवीन पटनायक ने कहा कि वो दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ मुहिम को सयासी रंग देने का इरादा नहीं रखते । नितिश कुमार ने डाक्टर मनमोहन सिंह को एक मकतूब रवाना करते हुए मुतालिबा किया कि मर्कज़ी हुकूमत इस सारे मसला पर अज़ सर-ए-नौ ग़ौर करे और क़ौमी इन्सिदाद-ए-दहशतगर्दी मर्कज़ क़ायम करने की तजवीज़ से दसतबरदारी इख्तेयार कर ले।

उन्होंने कहा कि इस सिलसिला में मर्कज़ की जानिब से किया गया फैसला यकतरफ़ा है और जल्द बाज़ी में किया गया है । इससे रियासतों के हुक़ूक़ तलफ़ किए जाएंगे । चीफ मिनिस्टर उड़ीसा ने भी डाक्टर मनमोहन सिंह को मकतूब रवाना किया कि और कहा कि वो दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ मुहिम को सयासी रंग देना नहीं चाहते जैसा कि कुछ मर्कज़ी वुज़रा इल्ज़ाम आइद कर रहे हैं।

मिस्टर पटनायक ने कहा कि एन सी टी सी पर इनका बुनियादी एतराज़ ये है कि मर्कज़ ने इस इंतिहाई अहम मसला पर दस्त दराज़ी के अंदाज़ में निमटा है । उन्होंने कहा कि वो वज़ीर ए आज़म को तीक़न देना चाहते हैं कि वो इस मसला को सयासी रंग देना नहीं चाहता जैसा कि कुछ वुज़रा ने इल्ज़ाम आइद किया है ।

मिस्टर नितिश कुमार और मिस्टर पटनायक दोनों ने वाज़िह किया कि वो पूरी शिद्दत के साथ दहश्तगर्दी और तख़रीब कारी की हर शक्ल में मुख़ालिफ़त करते हें और हमेशा ही इस लानत से निमटने में मर्कज़ के साथ रहे हैं। ताहम मिस्टर नितिश कुमार ने याद दहानी करवाई कि पुलिस रियासतों का मसला है और एन सी टी सी के क़ियाम के फैसले से एक उलझन जैसी सूरत-ए-हाल पैदा हो गई है ।

उन्होंने कहा कि हम सब दहश्तगर्दी के ख़िलाफ़ जहद्दो जहद में मुत्तहिद हैं। रियासतों ने मर्कज़ के साथ तआवुन किया है । इसी सूरत में इस तरह के मराकज़ के क़ियाम की ज़रूरत क्या है ? । अपने मकतूब में मिस्टर कुमार ने डाक्टर सिंह से कहा कि वो इस सारे मसला का जायज़ा लें और इस बात को यक़ीनी बनाएं कि इस हुक्मनामा में मुनासिब तरमीम की जाए ताकि रियासतों की वाजिबी तशवीश का ख़्याल रखा जा सके ।

उन्होंने कहा कि अगर इस तरह के मराकज़ के क़ियाम का फैसला किया जाता है तो फिर रियासतों से मश्वरे किए जाने चाहिऐं। कोलकता में चीफ मिनिस्टर मग़रिबी बंगाल ममता बनर्जी ने इस ताल्लुक़ से कोई बात कहने से गुरेज़ किया कि वो चहारशंबा को वज़ीर आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह से अपनी मुलाक़ात के मौक़ा पर अपनी नाराज़गी से वाक़िफ़ करवाएंगे ? ।

उन्होंने कहा कि वो इस सिलसिला में वज़ीर आज़म को पहले ही एक मकतूब रवाना कर चुके हैं और उनके मौक़िफ़ की वज़ाहत के लिए ये मकतूब ही काफ़ी है । मग़रिबी बंगाल तमिलनाडू पंजाब गुजरात मध्य प्रदेश और कर्नाटक की जानिब से एन सी टी सी के क़ियाम की मुख़ालिफ़त की गई है जबकि मर्कज़ी हुकूमत इस इदारा को यक्म मार्च से कारकर्द बनाना चाहती है ।

TOPPOPULARRECENT